निगम चुनावःपुरुषों के मुकाबले पहली बार महिला पार्षर्दों की संख्या ज्यादा

  • निगम चुनावःपुरुषों के मुकाबले पहली बार महिला पार्षर्दों की संख्या ज्यादा
You Are HerePunjab
Thursday, December 14, 2017-2:26 PM

जालंधरः 17 दिसंबर को नगर निगम चुनाव के बाद शहर के छठे निगम सदन में पुरुषों के मुकाबले पहली बार महिला पार्षर्दों की संख्या ज्यादा होगी। सरकार की ओर से पहली बार नगर निगम चुनावों में महिलाओं को 50 फीसद आरक्षण देने के बाद यह स्थिति उभर कर सामने आई है। महिला उम्मीदवार महिला आरक्षित 40 में से 39 वार्डों के अलावा 12 अन्य जनरल वार्डों यानी कुल 51 वार्डों से चुनाव लड़ रही हैं। जनरल वार्डों में से भी दो-तीन महिलाओं की जीत तय मानी जा रही है। ऐसे में निगम के आने वाले हाऊस में 50 फीसद से ज्यादा महिला पार्षद होंगी।

80 वार्डों में से दो वार्ड ऐसे हैं, जहां पर महिला आरक्षित वार्ड पर पुरुषों व जरनल वार्ड में महिलाओं ने ही दावेदारी की है। वार्ड नंबर 40 महिला आरक्षित होने के बावजूद इस वार्ड से किसी भी पार्टी ने महिला उम्मीदवार उतारने की बजाए पुरुष उम्मीदवार उतारे हैं। वहीं वार्ड नंबर 69 जरनल वार्ड होने के बावजूद इस वार्ड से पार्टियों ने महिला उम्मीदवार ही उतारी हैं।
 

दर्जन भर महिला उम्मीदवार जरनल वार्डों से मैदान में

40 महिला आरक्षित वार्डों में से 39 वार्डों से खड़ी हुई महिला उम्मीदवारों के अलावा 12 ऐसे जरनल वार्ड हैं जहां से भी महिला उम्मीदवारों ने पुरुष उम्मीदवारों को चुनौती दी है। इनमें वार्ड 2 से आम आदमी पार्टी की सुमन, वार्ड 8 से अकाली दल की उम्मीदवार कर्मजीत कौर, वार्ड 12 से आम आदमी पार्टी की रमनजीत कौर, वार्ड 20 से कांग्रेस की जसलीन सेठी, वार्ड 26 से आप की पूजा खन्ना, वार्ड 54 से कांग्रेस की रीटा शर्मा, वार्ड 42 से विधायक सुशील रिंकू की पत्नी सुनीता व उनके सामने बसपा की गीता शर्मा खड़ी हैं। वार्ड 46 से कांग्रेस की अनीता भाजपा के भगत मनोहर लाल के सामने खड़ी हुई हैं। वहीं वार्ड 56 से धवनजोत कौर दो बार पार्षद रह चुके कांग्रेस के पलन्नी अप्पन स्वामी के सामने खड़ी हैं। वार्ड 74 से भाजपा की कविता व वार्ड 80 से आप की राजविंदर कौर कांग्रेस के चार बार पार्षद रह चुके देश राज जस्सल के सामने खड़ी हैं।

 

 
 

 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन