Subscribe Now!

NRI का पंजाब पुलिस पर गंभीर आरोप

  • NRI का पंजाब पुलिस पर गंभीर आरोप
You Are HerePunjab
Friday, January 19, 2018-3:31 PM

चंडीगढ़(बृजेन्द्र): एक एन.आर.आई. से 6 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में आई.जी.पी.(आई.आर.बी.) पटियाला अमर सिंह चाहल का नाम केस में आने पर पुलिस विभाग द्वारा लंबे समय से केस की जांच आगे न बढ़ाने को लेकर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है। 

हाईकोर्ट ने दिया पंजाब सरकार, CBI, DGP  एवं अन्यों को 15 मई के लिए नोटिस
कनाडा में रहने वाले एक एन.आर.आई. जसवंत दास ने पंजाब सरकार, सी.बी.आई., डी.जी.पी. (पंजाब), आई.जी.पी. (एन.आर. आई. हैडक्वार्टर), आई.जी.पी. (आई.आर.बी.) पटियाला अमर सिंह चाहल, एस.एच.ओ. पुलिस स्टेशन एन.आर.आई., जालंधर, जालंधर के जङ्क्षतद्र सिंह वालिया, उनकी पत्नी व बेटा व बेटी को पार्टी बनाया है। वालिया व उनके परिवार पर मुख्य रुप से धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए हैं। हाईकोर्ट जस्टिस अरविंद सिंह सांगवान ने 15 मई के लिए प्रतिवादी पक्ष को नोटिस जारी किया है। रुपयों की लेनदेन के मामले में धोखाधड़ी व आपराधिक स्तर पर विश्वासघात की धाराओं में एन.आर.आई. थाना पुलिस, जालंधर ने केस दर्ज किया था। याची ने कहा है कि उनसे आरोपी की तरह सलूक किया जा रहा है और शिकायत वापिस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। पंजाब सरकार व सी.बी.आई. को निर्देश देने की मांग की है कि उन अफसरों के नाम सामने लाए जो आरोपियों का पक्ष ले रहे हैं और कानून का दुप्रयोग करते हुए जांच रोक रहे हैं। आई.जी.पी. (एन.आर.आई. हैडक्वार्टर), मोहाली पर सीधे रूप से आरोपी पक्ष का साथ देने का आरोप लगाया गया है।

आई.जी.पी. अमर सिंह के घर हुई थी वालिया से मुलाकात
याचिका में कहा गया है कि चाहल उस केस में शामिल थे। मामले में उच्चाधिकारियों द्वारा उन्हें बचाने की कोशिश किए जाने के आरोप लगाए गए हैं। मांग की गई है कि केस की जांच सी.बी.आई. के हवाले की जाए क्योंकि 6 महीने से अधिक का वक्त बीतने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है क्योंकि एक प्रतिवादी जिस पर आरोप हैं वह आई.जी. रैंक का अधिकारी है। याचिका में एन.आर.आई. ने अपनी जान का खतरा बताया है और मांग की है कि वह अपनी अचल व चल संपत्ति की देखरेख व कोर्ट केसों की सुनवाई के लिए जब भी देश वापिस आए तो उन्हें प्रतिवादी पक्ष उचित्त सुरक्षा प्रदान करवाए। याची ने कहा है कि उनकी पंजाब में प्रापर्टी है और जङ्क्षतद्र सिंह वालिया व उनकी पत्नी व बेटे ने उनके साथ 6 करोड़ से अधिक की धोखाधड़ी की है। जिसमें आई.जी. अमर सिंह चाहल की भी मिलीभगत बताई गई है। याची ने कहा है कि वालिया से आई.जी.पी. अमर सिंह चाहल ने अपने घर पर उनकी मुलाकात करवाई थी।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन