बजट सत्र की तैयारियां शुरू,2.50 लाख करोड़ के कर्जे को जनता के सामने लाएगी अमरेन्द्र सरकार

  • बजट सत्र की तैयारियां शुरू,2.50 लाख करोड़ के कर्जे को जनता के सामने लाएगी अमरेन्द्र सरकार
You Are HerePunjab
Friday, May 19, 2017-4:32 PM

जालन्धर (धवन): पंजाब में 17 मार्च को अस्तित्व में आई कैप्टन अमरेन्द्र सिंह सरकार द्वारा अपने पहले बजट सत्र को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सरकार ने रैगुलर बजट पेश नहीं किया था क्योंकि बजट तैयार करने के लिए सरकार के पास पर्याप्त समय नहीं था।  इसलिए सरकार ने बजट के स्थान पर वोट ऑन अकाऊंट पेश कर दिया था। 

 

सरकारी हलकों ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने वित्त विभाग को निर्देश दिए हैं कि पहले बजट को यादगारी बनाया जाए। इसमें जनता के हितों के जुड़े मुद्दों तथा कांग्रेस के चुनावी वायदों को पूरा करने के लिए एजैंडा पेश किया जाए। इस संबंध में वित्त विभाग द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों से सलाह ली जा रही है। मुख्यमंत्री के निकटवर्तियों ने बताया कि पहले बजट में सरकार द्वारा किसानों के ऋणों को माफ करने तथा नौजवानों को नौकरियां देने के संबंध में पहलकदमी की जा सकती है। इसी तरह से पहले बजट में नौजवानों को मोबाइल फोन देने के वायदे को पूरा करने के लिए भी कदम उठाए जाने के आसार हैं। यद्यपि पंजाब सरकार बुरी तरह से आॢथक संकट में फंसी हुई है परन्तु उसके बावजूद अमरेन्द्र सरकार द्वारा कांग्रेस के चुनावी वायदों को पूरा करने की दिशा में कुछ कदम उठाए जा रहे हैं। 

 


अमरेन्द्र सरकार का पहला बजट सत्र जून के मध्य में शुरू होगा। बजट से पहले वित्त मंत्री द्वारा राज्य की आॢथक स्थिति को लेकर श्वेत पत्र पेश किया जाएगा जिसमें पूर्व अकाली-भाजपा सरकार द्वारा पिछले 10 वर्षों में पंजाब पर चढ़ाए गए लगभग 2.50 लाख करोड़ रुपए के कर्जे का जिक्र करके जनता को बताया जाएगा कि किस तरह से पूर्व सरकार केवल ऋणों के सहारे चलती रही। यह भी कहा जा रहा है कि जून के पहले सप्ताह में मुख्यमंत्री अमरेन्द्र सिंह द्वारा बजट को लेकर वित्त मंत्री व वित्त विभाग के अधिकारियों के साथ चर्चा की जाएगी।  इस बैठक में कैप्टन द्वारा बजट को लेकर अपने सुझाव वित्त विभाग के सामने रखे जाएंगे। अमरेन्द्र सिंह द्वारा बजट की रूप-रेखा को तैयार करने के निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं जिसमें वित्त विभाग जुटा हुआ है। विभिन्न विभागों को आबंटित किए जाने वाले बजट को लेकर भी मुख्यमंत्री के विचारों के अनुरूप ही बजट तैयार किया जा रहा है। 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You