कांग्रेस को अकालियों से विरासत में खाली खजाना व पूरा सिस्टम अस्त-व्यस्त मिला : परनीत कौर

  • कांग्रेस को अकालियों से विरासत में खाली खजाना व पूरा सिस्टम अस्त-व्यस्त मिला : परनीत कौर
You Are HerePunjab
Monday, November 13, 2017-11:01 AM

जालंधर(धवन): पूर्व केंद्रीय विदेश मंत्री व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की पत्नी परनीत कौर ने कहा है कि कांग्रेस सरकार को विरासत में अकालियों से खाली खजाना व पूरा सिस्टम अस्त-व्यस्त मिला है जिसे सुधारने की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री कै. अमरेन्द्र सिंह के कंधों पर है। इंडियन ओवरसीज कांग्रेस यू.के. के अध्यक्ष कमल धालीवाल व उनकी टीम द्वारा साऊथ हाल, लंदन में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए परनीत कौर ने कहा कि पंजाब विधानसभा के चुनावों में आप्रवासियों ने खुलकर कांग्रेस का साथ दिया जिसके लिए वह समूचे आप्रवासियों का आभार जताती हैं परन्तु साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी है क्योंकि लोगों की उम्मीदें कैप्टन अमरेन्द्र सिंह व कांग्रेस से जुड़ी हुई हैं।

परनीत सिंह ने कहा कि कांग्रेस को जो सिस्टम मिला है वह पूरी तरह से अकाली-भाजपा सरकार ने ध्वस्त कर दिया था परंतु विपरीत परिस्थितियों में काम करने के बावजूद कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने 6 महीनों के छोटे कार्यकाल के दौरान ही छोटे व सीमांत किसानों का 2-2 लाख रुपए का कर्जा माफ कर दिया है। उन्होंने कहा कि किसान ऋण माफी की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है तथा उन किसानों की सूचियां तैयार हो रही हैं जिनका कर्जा माफ होना है। परनीत कौर ने कहा कि अमरेन्द्र सरकार ने विभिन्न सरकारी विभागों में खाली पड़े 15,000 पदों को तत्काल भरने का निर्णय लिया है। कांग्रेस सरकार पहले दिन से ही काम कर रही है क्योंकि अगर नया पंजाब बनाना है तो पहले दिन से ही मेहनत करनी होगी। 

उन्होंने यू.पी. की भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उसने तो किसानों के साथ किसान ऋण माफी को लेकर एक भद्दा मजाक किया है। उसने मात्र मामूली-सी राशि किसानों की माफ कर दी। पंजाब सरकार ने जितना कर्जा किसानों का माफ किया है उतना देश में किसी भी राज्य सरकार ने नहीं किया जिसके लिए मुख्यमंत्री कै. अमरेन्द्र सिंह बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि आप्रवासियों के मसले अमरेन्द्र सरकार द्वारा पहल के आधार पर हल किए जाएंगे। इस अवसर पर इंडियन ओवरसीज कांग्रेस की नई टीम से भी परनीत कौर ने परिचय प्राप्त किया। उन्होंने इंगलैंड में चौथी बार निर्वाचित हुए वरिन्द्र शर्मा तथा अन्य आप्रवासी पंजाबियों को मुबारकबाद भी दी। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!