खुली छत से कबाडि़ए की दुकान में गिरी आतिशबाजी

  • खुली छत से कबाडि़ए की दुकान में गिरी आतिशबाजी
You Are HereFaridkot
Saturday, October 21, 2017-9:57 AM

फरीदकोट(चावला): दीपों के त्यौहार को लोगों ने पटाखे जलाकर शान दिखाने का जरिया बना लिया है। उन्हें बेचने वाले तो कमाई कर लेते हैं पर इन्हें चलाने दिखाई गई जरा-सी लापरवाही कई बार कुछ लोगों को कंगाल कर देती है।  बलबीर एवेन्यू के बाजार में स्थित कबाडि़ए की दुकान को भयानक आग लग जाने से भारी नुक्सान होने की खबर मिली है।

पीड़ित यमला कबाडिया के लड़के ने बताया कि आज प्रात: करीब 8 बजे दुकान खोलने से पहले ही आग लग गई। कबाड़ का भाव कम होने के कारण वे दुकान में प्लास्टिक का पुराना सामान लेकर रखते थे कि जब भाव तेज होगा तब बेच देंगे परन्तु बुरी किस्मत होने के कारण खुली छत होने के कारण आतिशबाजी दुकान के अंदर पड़े सामान पर आ गिरी जिससे करीब 2 लाख का नुक्सान हो गया है। रिहायशी क्षेत्र होने के कारण राहगीरों ने कबाड़ की दुकान में से काफी सामान बाहर निकाल लिया। 

पड़ोसी दुकानदारों और राहगीरों ने बताया कि फरीदकोट नगर कौंसिल की फायर ब्रिगेड की तीनों ही गाडिय़ां मौके पर पहुंच गई थीं परन्तु आग ज्यादा होने के कारण कोटकपूरा से भी फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां बुलानी पड़ी व रिहायशी क्षेत्र आग की चपेट में आने से बच गया।

10 फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों ने 3 घंटे में आग पर पाया काबू
नगर कौंसिल फायर ब्रिगेड के शोभा सिंह, सलविन्द्र सिंह, अरपिन्द्र विशाल कुमार, गगन दीप, मनदीप सिंह, निर्मल कुमार और कोटकपूरा के फायर ब्रिगेड स्टाफ ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए करीब 10 पानी वाली गाडिय़ां लाकर बहुत मुश्किल से आग पर 3 घंटों में काबू डाला गया है। फरीदकोट में 2 बड़ी गाडियां और एक छोटी जीप है परन्तु ड्राइवर 2 ही हैं और स्टाफ की भी कमी है जिस कारण इस तरह की घटनाओं से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इस मौके पर सिटी पुलिस के प्रमुख जगदेव सिंह और ट्रैफिक पुलिस सिटी के इंचार्ज सुखजिन्द्र सिंह बेदी भी अपनी टीम के साथ पहुंचे हुए थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!