अब पंजाबी में भी होगी विधानसभा की कार्रवाई

  • अब पंजाबी में भी होगी विधानसभा की कार्रवाई
You Are HerePunjab
Wednesday, December 06, 2017-2:02 PM

चंडीगढ़ः आजादी से पहले संयुक्त पंजाब के विधानसभा की कार्रवाई का रिकार्ड वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने मंगलवार विधानसभा स्पीकर राणा केपी सिंह को सौंपा जिसमें 23 मार्च 1937 से 3 मार्च 1947 तक विधानसभा में हुई बहसों का रिकार्ड अंग्रेजी में है जोकि पाक में था। तब अंग्रेजी में कार्रवाई रिकार्ड होती थी लेकिन अब इसे अंग्रेजी के साथ-साथ पंजाबी में भी रिकार्ड किया जाएगा।

 

मनप्रीत बादल ने 43 प्रारूपों मं यह रिकार्ड फोटोकापी के रूप में पाकिस्तान से हासिल किया था। राणा केपी सिंह ने कहा कि विभाजन से पहले संयुक्त पंजाब की विधानसभा में हुई बहसों का ऐतिहासिक स्तर पर बहुत महत्व है। संयुक्त पंजाब संबंधी विभिन्न मुद्दों पर शोध कार्य करने वालों के लिए यह रिकार्ड बहुत ही लाभप्रद सिद्ध होगा। इन बहसों को पढ़कर भारत-पाकिस्तान के विभाजन से पहले की परिस्थितियों की भी अच्छी जानकारी हासिल होगी। बादल ने कहा काफी प्रयासों के बाद उन्होंने यह रिकार्ड हासिल किया है।

 

इसमें महत्वपूर्ण बिलों की बहस भी शीमिल हैं जिससे आजादी की लहर संबंधी अहम जानकारी भी हासिल होगी। इस रिकार्ड की एक-एक कॉपी हरियाणा विधानसभा तथा राष्ट्रीय पुरात्तव विभाग को भी दी जाएगी। उन्होंने रिकार्डप्राप्त करने में आईएएस अधिकारी रवींद्र कुमार कौशिक द्वारा मदद करने की भी प्रशंसा की।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन