मेरे और अमरेंद्र के बीच मतभेद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं सुखबीर: सिद्धू

  • मेरे और अमरेंद्र के बीच मतभेद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं सुखबीर: सिद्धू
You Are HerePunjab
Friday, October 13, 2017-10:21 AM

चंडीगढ़ (पराशर): पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि गुरदासपुर संसदीय उपचुनाव में यदि अकाली भाजपा गठबंधन ने स्वर्ण सलारिया की बजाए दिवंगत सिने स्टार विनोद खन्ना की धर्मपत्नी कविता खन्ना को अपने उम्मीदवार के तौर पर खड़ा किया होता तो तो कांग्रेस के लिए चुनावी मुकाबला सख्त हो सकता था। 

शान से जीतेंगे हम गुरदासपुर उपचुनाव
आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि कविता खन्ना की गैर-हाजिरी में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष तथा पार्टी के उम्मीदवार सुनील जाखड़ व सलारिया में मुकाबला एकतरफा रहा और उन्हें कोई शक नहीं कि कांग्रेस पार्टी इस चुनाव को एक लाख से भी अधिक वोटों से जीतेगी। सिद्धू ने कहा कि बड़े खेद की बात है कि गुरदासपुर उपचुनाव में प्रचार का स्तर कुछ इस तरह गिरा कि साधारण व्यक्तियों का इसमें हिस्सा लेना भी दूभर हो गया। 

अकाली बोझ बन गए हैं भाजपा पर
उन्होंने इसके लिए अकालियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अकाली दल अब भाजपा के लिए बोझ बन गया है और भाजपा नेता जितनी जल्दी अकालियों से अपना पल्ला छुड़ाएंगे उनके लिए उतना ही अच्छा रहेगा। उन्होंने अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल पर आरोप लगाया कि वह झूठी सच्ची बाते कह कर उनमें और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के बीच गलतफहमी पैदा करने की कोशिश कर रहे है। वह अपने इस षड्यंत्र में कभी कामयाब नहीं होंगे। उन्होंने पूर्व मंत्री बिक्रम जीत सिंह मजीठिया पर भी निशाना साधते हुए कहा कि सुखबीर के साले होने के नाते उन्होंने रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा और बलविंद्र सिंह भूंदड़ जैसे टकसाली अकाली नेताओं को भी खुड्डे लाइन लगाए रखा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!