विकास संबंधी सिद्धू द्वारा किए ऐलान को लेकर चल रहा है विवाद

  • विकास संबंधी सिद्धू द्वारा किए ऐलान को लेकर चल रहा है विवाद
You Are HerePunjab
Thursday, September 14, 2017-1:44 PM

लुधियाना (हितेश): महानगर के लिए विकास पैकेज संबंधी लोकल बाडीज मंत्री नवजोत सिद्धू द्वारा किए ऐलानों पर सवाल खड़े करने को लेकर कांग्रेस के साथ चल रहे टकराव के बीच मेयर ने अपनी घोषणा के बावजूद बुधवार को एफ. एंड सी.सी. की बैठक नहीं बुलाई। 

यहां बताना उचित होगा कि कांग्रेस व मेयर के बीच कड़वाहट उस समय से ही बढ़ गई है, जब मेयर ने 2 बार हुई एफ. एंड सी.सी. की मीटिंग में फंड की कमी के मुद्दे पर विकास कार्यों के नए एस्टीमेट पास करने से इंकार कर दिया था। इसे लेकर कांग्रेस का आरोप था कि उनके वार्डों से संबंधित प्रस्ताव ज्यादा होने के कारण मेयर द्वारा यह रवैया अपनाया गया। हालांकि कांग्रेसियों की नाराजगी दूर करने के लिए मेयर ने 13 सितम्बर को दोबारा एफ. एंड सी.सी. की मीटिंग बुलाकर नए एस्टीमेटों को मंजूरी देने का विश्वास दिलाया था। लेकिन इसी बीच कांग्रेस सरकार द्वारा महानगर के विकास संबंधी घोषित किए गए 3568 करोड़ के पैकेज पर मेयर द्वारा सवाल खड़ा करने से बवाल मच गया। 

इस मामले में मेयर ने अकाली-भाजपा के जिला प्रधानों के साथ प्रैस कांफ्रैंस करके आरोप लगाया कि कांग्रेस द्वारा ऐलान किए गए सभी प्रोजैक्ट दिखावा है, क्योंकि उनमें से अधिकतर योजनाएं पिछली सरकार के समय पास हो चुकी हैं और उनके लिए केन्द्र सरकार से फंड रिलीज होना है। इसी तरह कई प्रोजैक्टों के लिए अभी डिजाइन फाइनल न होने व फंड की भी कोई खबर न होने की टिप्पणी की गई। इस पर कांग्रेसी भड़क गए और खुद सांसद रवनीत बिट्टू ने विधायकों के साथ सॢकट हाऊस में ही जवाबी प्रैस कान्फ्रैंस करके मेयर को निशाना बनाया। बिट्टू ने कांग्रेस की घोषणाओं को जायज बताते हुए मेयर के कार्यकाल का पोस्टमार्टम करते हुए उन्हें नाकाम तक कह दिया है। इस खींचतान का असर एक दिन बाद उस समय देखने को मिला जब मेयर ने अपनी घोषणा के बावजूद बुधवार को एफ. एंड सी.सी. की मीटिंग ही नहीं बुलाई। जिसे कांग्रेसी वार्डों में होने वाले विकास कार्यों से संबंधित एस्टीमेटों को लटकाने से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं, यह डर भी सता रहा था कि पक्षपात के आरोपों को लेकर कहीं कांग्रेसी पार्षद मीटिंग में आकर हंगामा न कर दें। शायद इसी वजह से आगे मीटिंग रखने बारे कोई शैड्यूल अभी तक जारी नहीं किया गया।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !