एक्शन में सिद्धूः अचानक मारा छापा, अधिकारियों में हड़कंप (Watch Video)

You Are HerePunjab
Saturday, April 22, 2017-1:19 PM

फगवाड़ा(जलोटा): पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने फगवाड़ा नगर निगम में चल रही अनियमितताओं का कड़ा संज्ञान लेते हुए आज शहर का दौरा करके चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया व कई मामलों में निगम कमिश्नर व अन्य सरकारी अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई।

कांग्रेसी नेताओं ने भेंट कर उठाया था घोटाले का मुद्दा
उल्लेखनीय है कि 2 दिन पहले जिला कपूरथला कांग्रेस कमेटी के प्रधान जोगिन्द्र सिंह मान ने नवजोत सिंह सिद्धू से भेंट कर उन्हें क्षेत्र में हुए विकास कार्यों व निगम की दुकानों तथा बूथों में घोटाले होने की सूचना दी थी जिस पर सिद्धू ने शीघ्र फगवाड़ा दौरे का आश्वासन भी दिया था। जब सिद्धू आज फगवाड़ा आए तो निगम के पार्षदों, जोगिन्द्र सिंह मान व अन्य लोगों ने उनके ध्यान में यह बात भी लाई कि शहर में निगम के अन्तर्गत 198 बूथों में से काफी कौडिय़ों के भाव दे दिए गए व कई बूथों में खुले तौर पर कानून की धज्जियां उड़ा अवैध निर्माण हुए हैं।

इनकी बिक्री में अंडर दि टेबल लाखों का आदान-प्रदान भी हुआ है। इस अवसर पर सीनियर कांग्रेसी नेता हरजीत सिंह परमार, मुनीष भारद्वाज, रामपाल उप्पल (पार्षद), सुनील पराशर, मुनीष प्रभाकर (पार्षद), दलजीत राजू दरवेश पिंड (प्रधान देहाती), कृष्ण कुमार हीरो, दर्शन लाल धर्मसोत (पार्षद), अगम पराशर व अविनाश गुप्ता आदि मौजूद थे। इससे पूर्व फगवाड़ा में बतौर कैबिनेट मंत्री पहली बार आने पर नवजोत सिद्धू को फगवाड़ा पुलिस द्वारा स्थानीय रैस्ट हाऊस में गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया।

21 दिन में मांगी ऑडिट रिपोर्ट
सिद्धू ने निगम कमिश्नर दविन्द्र सिंह सहित सीवरेज बोर्ड तथा वाटर सप्लाई विभाग के अधिकारियों को मौके पर ही आदेश जारी किए कि वे 21 दिन में ऑडिट रिपोर्ट तैयार कर उनके कार्यालय चंड़ीगढ में प्रस्तुत करें, जिसकी जांच वह बड़ी ऑडिट कंपनी से करवाएंगे और हर तथ्य की गहन जांच करवाई जाएगी। यदि नगर निगम द्वारा भेजी गई ऑडिट रिपोर्ट में कोई अनियमितता पाई गई तो सख्त एक्शन होगा और दोषी अधिकारी को तुरंत प्रभाव से सस्पैंड कर दिया जाएगा। उन्होंने मान की अगुवाई में 4 सदस्यीय कमेटी का गठन करते हुए कहा कि वह उक्त सारे मामले पर कड़ी नजर रखें।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!