Subscribe Now!

मनप्रीत बादल की मांग, पैट्रोलियम और रियल अस्टेट को GST में किया जाए शामिल

You Are HerePunjab
Thursday, January 18, 2018-6:44 PM

नई दिल्ली/चंडीगढ़: पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने आज कहा कि माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के क्रियान्वयन के बाद राज्य को 40 प्रतिशत राजस्व का नुकसान हुआ है। उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों की कर दरों में समानता लाने पर जोर देते हुए कहा कि 19 जनवरी को उत्तर क्षेत्र के वित्त मंत्रियों की बैठक में इस मुद्दे को उठाया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि राज्यों को एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा करते नहीं दिखना चाहिए। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं अपने राज्य को लेकर चिंतित हूं। हमें 40 प्रतिशत राजस्व का नुकसान हुआ है।’’  बादल ने कहा कि यदि कर दरों को एक समान किया जाता है तो वह पेट्रोलियम उत्पादों पर अतिरिक्त करों के राजस्व का छोडऩे को तैयार हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या प्राकृतिक गैस उत्पादों को भी जीएसटी के दायरे में लाने के पक्ष में हैं, बादल ने कहा कि कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी का मुद्दा उठाया है। उन्होंने कहा पेट्रोल और डीजल को पहले इस कर व्यवस्था के तहत लाया जाना चाहिए। बादल ने रियल इस्टेट को भी जीएसटी के दायरे में लाने की मांग की।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन