मन्ना ने जागीर कौर को तलब करने के लिए सौंपा श्री अकाल तख्त साहिब पर ज्ञापन

  • मन्ना ने जागीर कौर को तलब करने के लिए सौंपा श्री अकाल तख्त साहिब पर ज्ञापन
You Are HerePunjab
Monday, October 23, 2017-10:44 PM

अमृतसर(ममता): पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव व प्रवक्ता मनदीप सिंह मन्ना ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार को ज्ञापन सौंप कर मांग की है कि शिरोमणि कमेटी की पूर्व प्रधान व मौजूदा मैंबर बीबी जागीर कौर को मर्यादा भंग करने के आरोप में श्री अकाल तख्त साहिब पर तलब करके उसे धार्मिक सजा सुनाई जाए। 

ज्ञापन के माध्यम से यह भी मांग की गई है कि डेरा मुखी राम रहीम को श्री अकाल तख्त साहिब से माफी दिलवाने के लिए तख्त साहिबों के जत्थेदारों पर डाले गए दबाव के धार्मिक अपराध को देखते हुए अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और अकाली मंत्री डा. दलजीत सिंह को श्री अकाल तख्त साहिब पर तलब कर तन्खाहिया घोषित किया जाए ताकि श्री अकाल तख्त साहिब की निष्पक्षता को लेकर सिख कौम में फैले भ्रम को खत्म किया जा सके। 

ज्ञानी गुरबचन सिंह की अनुपस्थिति में मन्ना से यह मांग-पत्र उनके कार्यालय के सचिव गुरबचन सिंह ने लिया। श्री अकाल तख्त साहिब पर मांग-पत्र सौंपने के बाद पत्रकारों से मन्ना ने कहा कि बीबी जागीर कौर की पुत्री हरप्रीत कौर की हत्या 20 अप्रैल 2000 को हुई थी। इस मामले में हरप्रीत कौर का पति होने का दावा करने वाले युवक कमलजीत ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई थी कि हरप्रीत और उसके पेट में पल रहे उसके बच्चे की हत्या करने, हरप्रीत का अपहरण करने में बीबी जागीर कौर मुख्य दोषी है। 

पुलिस ने जब कोई कार्रवाई नहीं की तो कमलजीत ने यह शिकायत हाई कोर्ट में कर दी, जिस पर सी.बी.आई. ने सारे मामले की जांच करते हुए बीबी को आरोपी बताया और अदालत ने बीबी जागीर कौर को 5 वर्ष कैद की सजा सुनाई। जागीर कौर 6 माह की सजा काट अब जमानत पर है। जागीर कौर ने जो अपराध किया है, उसे सिख कौम में जघन्य अपराध बताया जाता है। सांसारिक अदालत ने तो जागीर कौर को सजा सुना दी है, पर श्री अकाल तख्त साहिब द्वारा बीबी को इस जघन्य अपराध के लिए श्री अकाल तख्त साहिब से धार्मिक सजा क्यों नहीं सुनाई जा रही। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!