जिंदा जलाए गए युवक के दोस्त ने आस्ट्रेलिया से की इंसाफ की मांग

  • जिंदा जलाए गए युवक के दोस्त ने आस्ट्रेलिया से की इंसाफ की मांग
You Are HerePunjab
Monday, October 31, 2016-5:44 PM

ब्रिसबेनः  मनमीत अलीशेर के शव को वापस पंजाब ले जाने के लिए आस्ट्रेलिया पहुंचे उसके भाई अमित अलीशेर और दोस्त विनरजीत गोल्डी ने आस्ट्रेलिया सरकार  से इंसाफ की मांग की है और यह आशा व्यक्त कि आस्ट्रेलिया सरकार जल्द ही उनकी इस मांग को पूरा करेगी। 

 

अमित और विनरजीत रविवार को ब्रिसबेन पहुंचे और दोनों ने उस जगह का दौरा भी किया, जहां मनमीत को जिंदा जलाया गया था।  इस दौरान मनमीत के भाई की आखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। अमित  के आधार पर मीडिया से बातचीत करते गोल्डी ने बताया कि जब से उन्हें मनमीत की मौत की खबर मिली है, वे दोनों सोए नहीं हैं और दोनों ने एक पल की चैन की सांस नहीं ली। उसने बताया कि यह दिन उनके लिए बेहद मुश्किलों और दुख भरे हैं। गोल्डी ने बताया कि बस चालक होने के साथ-साथ मनमीत एक अच्छा गायक, कवि, लेखक, थियेटर कलाकार और प्रमोटर था।

 

वह आस्ट्रेलिया में बसते पंजाबी समुदाय के लोगों के साथ-साथ हर किसी की मदद के लिए हमेशा ही आगे रहता था।मनमीत की मौत के बाद उनका पूरा गांव सदमे में है और इसी दुख कारण पूरे गांव के लोगों ने  दीवाली न मनाने का फ़ैसला किया है। गोल्डी ने बताया कि मनमीत आस्ट्रेलिया के बारे अक्सर ही यह बात कहा करता था कि यह देश इंसाफ का देश है। मनमीत के इस बात को पूरा करने के लिए गोल्डी और मनमीत के भाई अमित ने आस्ट्रेलिया सरकार से इंसाफ की मांग की है। इतना ही नहीं दोनों ने आस्ट्रेलिया में रहते भारतीयों की सुरक्षा की मांग भी की है जिससे भविष्य में किसी के साथ भी ऐसी घटना न घट सके। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!