Subscribe Now!

कलयुगी बाप अपनी ही बेटियों से मिटाता रहा हवस, ऐसे खुला राज

  • कलयुगी बाप अपनी ही बेटियों से मिटाता रहा हवस, ऐसे खुला राज
You Are HerePunjab
Tuesday, February 13, 2018-10:22 PM

साहनेवाल(जगरूप): एक कलयुगी बाप द्वारा अपनी ही दो नाबालिग बेटियों को लगातार 4-5 वर्ष तक अपनी हवस का शिकार बनाने का एक घोर दंडनीय अपराध सामने आया है । जिस के बारे में पता तब चला जब दोनों मासूमों में से छोटी बेटी ने सहस दिखाते हुए अपनी सहपाठनों को इसके बारे में बताया गया। जिन्होंने आगे अपने स्कूल के महिला अध्यापकों को इस बारे में बताया। जिसके बाद स्कूल प्रिंसीपल ने बिना किसी तरह की देरी करते हुए तुरंत नवचेतना चाइल्ड हेल्प लाइन के सदस्यों को इसकी जानकारी दी और फि र सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही चौकी रामगढ़ के प्रभारी हरभजन सिंह अपनी पुलिस पार्टी के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की शुरुआती जांच शुरू की । 

मामले के बारे में जानकारी देते हुए चौकी प्रभारी हरभजन सिंह ने बताया के शुरुआती जांच में पता चला के गांव गोबिंदग का रहने वाला बिशेश्वर साह अपनी दो 14 व 9 वर्षीय बेटियों से पिछले कुछ वर्षों से कथित जबर जनाह करता आ रहा था। जिसके बारे में डर के मारे बड़ी बेटी तो चुप रही लेकिन छोटी बेटी ने इसके बारे में अपने साथ वाली अपनी सहपाठनों को बता दिया। जिन्होंने पूरा मामला अपने स्कूल के अध्यापकों के ध्यान में ला दिया। जिसके बाद उन्होंने स्कूल प्रिंसीपल के बयानों पर आरोपी पिता के खिलाफ  करवाई शुरू की है। 

महिला प्रिंसीपल व नवचेतना चाइल्ड हेल्प लाइन ने निभाई जिमेवारी 
स्कूल की महिला पिं्रसीपल ने नवचेतना चाइल्ड हेल्प लाइन के सदस्यों बलराज सिंह ग्रेवाल, मैडम रमनजोत कौर ग्रेवाल व सुखवीर सिंह सेखों के साथ इन मासूम बच्चों पर हो रहे दुखद अपराध के बारे में पता चलते ही तुरंत पुलिस को सूचित किया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी बाप को हिरासत में लेकर आगे की करवाई शुरू की । 

पत्नी को थी जानकारी
चौकी प्रभारी हरभजन सिंह ने बताया के जांच में सामने आया के मासूम बच्चियों के साथ हो रहे अत्याचार के बारे में आरोपी की पत्नी को जानकारी थी। जो अपने हवशी पति के इस अपराध के बारे में जानकारी होने के बाद भी चुप रही। उन्होंनेे बताया के फि लहाल पुलिस द्वारा दोनों बच्चियों का बुधवार को मेडिकल करवाया जाएगा। जिसके साथ ही हिरासत में लिए आरोपी के खिलाफ  आगे की करवाई की जाएगी। 


 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन