देसी अंदाज में दिखे सज्जन: कोठे ते मंजा डाल खुले आसमान के नीचे सोए

  • देसी अंदाज में दिखे सज्जन: कोठे ते मंजा डाल खुले आसमान के नीचे सोए
You Are HerePunjab
Saturday, April 22, 2017-1:55 AM

होशियारपुर(अमरेन्द्र): वीरवार को दिन के उजाले में कनाडा के पहले रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन को देखने व मिलने के अधूरे रहे अरमान बंबेली वासियों ने रात भर उनके घर पर मुलाकात कर खूब पूरे किए। रात में खाना खाने के बाद सज्जन ने यहां आम पंजाबी किसानों के घर की ही तरह सादी दाल के साथ सूखी रोटी व लस्सी के बाद घर में तैयार खीर का भी स्वाद लिया। खाना खाने के बाद उन्होंने खाना तैयार करने वाली पारिवारिक सदस्याओं व नौकरानी को अपने हाथों से खाना परोसने में काफी दिलचस्पी दिखाई। 

 

यही नहीं कनाडाई सुरक्षा अधिकारियों की आपत्तियों को दरकिनार कर सज्जन स्वयं ठेठ पंजाबी अंदाज में कोठे पर मंजा डाल के सुत्ते। यही नहीं कोठे पर मंजा (खटिया) भी वह कुछ उसी तरह उठाकर ले गए जैसे अक्सर आम पंजाबी किसान गर्मियों के महीनों में करते हैं। नीचे कमरे में लगे पंखे, कूलर व ए.सी. को छोड़ आम पंजाबी किसान की ही तरह पूरी रात छत पर फर्राटे वाले पंखे की हवा लेते हुए सो गए। सोने से पहले वह अपने बचपन के साथियों व गांववासियों से खूब घुल-मिलकर ढेर सारी बातें करते हुए बचपन की यादों को ताजा कर ठहाके भी लगाते रहे।


सुबह 6 बजे चंडीगढ़ के लिए हुए रवाना
शुक्रवार सुबह बंबेली गांव में सज्जन के पारिवारिक सदस्य पूर्व सरपंच सुखदेव सिंह, बचित्तर सिंह, इंद्रजीत राणा, सरपंच परमजीत सिंह, राकेश, बलवीर सिंह, हरमेश सिंह, जसवीर सिंह ने बताया कि रात के समय बात करने के दौरान सज्जन ने बताया कि उनकी इच्छा थी कि गांव के खेत-खलिहान में पैदल जाऊं व शाम के समय बगीचों में घूमते मोरों को नजदीक से देखूं जैसे बचपन के दिनों में देखा करते थे। देर रात तक वह गांव के लोगों के बारे में जानकारियां भी लेते रहे। सुबह तड़के नहा-धोकर तैयार हो नाश्ते में परांठे, दही, आचार के साथ खाने व लस्सी पीने के बाद सुबह 6 बजे के करीब अपने अगले पड़ाव चंडीगढ़ के लिए निकल पड़े।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!