18,000 स्टूडैंट्स को वर्दी न मिलने पर DC ने DEO से 18 तक मांगी रिपोर्ट

  • 18,000 स्टूडैंट्स को वर्दी न मिलने पर DC ने DEO से 18 तक मांगी रिपोर्ट
You Are HerePunjab
Friday, December 15, 2017-3:27 PM

लुधियाना (विक्की): पंजाब केसरी में कुछ दिन पहले लुधियाना के करीब 350 प्राइमरी स्कूलों के करीब 18,000 विद्यार्थियों को अभी तक सर्दी की वर्दी न मिलने संबंधी छपी खबर को लेकर सरकार ने डी.सी. से रिपोर्ट मांगी है। इसके आधार पर डिप्टी कमिश्नर प्रदीप अग्रवाल ने मामले की गंभीरता को देखते हुए डी.ई.ओ. एलीमैंटरी को 18 दिसम्बर तक स्टूडैंट्स को वर्दियां बांटकर इसकी रिपोर्ट भेजने के आदेश जारी किए हैं। यही नहीं डी.सी. ने अभी तक वर्दियां न बांटे जाने का कारण भी पूछा है।

स्कूलों से डिटेल जुटाने में लगे अधिकारी 
डी.सी. के आदेशों के बाद डी.ई.ओ. ने समूह ब्लॉक प्राइमरी अफसरों को 18 दिसम्बर से पहले बच्चों को वर्दियां देने के कार्य को मुकम्मल करने के निर्देश दिए हैं। सर्दी के एकदम से जोर पकडऩे के बाद सरकार की ओर से उक्त मामले संबंधी मांगी गई रिपोर्ट के बाद विभागीय अधिकारी भी स्कूलों से डिटेल एकत्रित करने में जुट गए हैं। 

यह है मामला 
सरकार ने सर्वशिक्षा अभियान के अधीन लुधियाना के 1002 प्राइमरी एवं 33 एन.सी.एल.पी. स्कूलों के 79,340 विद्यार्थियों के लिए 400 रुपए प्रति स्टूडैंट की वर्दी के हिसाब से करीब &.17 करोड़ रुपए की राशि सितम्बर में ही जारी कर दी थी। विभाग की ओर से स्कूलों को यह राशि 18 दिसम्बर तक उनके बैंक अकाऊंट में बच्चों की गिनती के मुताबिक भेज दी गई लेकिन बैंकों ने अपनी मिनिमम बैलेंस योजना के तहत खातों में आए पैसों पर चार्जिस लगा दिए, जिससे स्कूलों के लिए भेजी गई यह राशि बच्चों की गिनती के मुताबिक कम हो गई। ऐसे में स्कूलों ने पहले बैंकों और फिर विभाग के ध्यान में उक्त मामला लाया।

ए.डी.सी. ने मांगे थे स्कूलों के नाम 
जिला शिक्षा विकास कमेटी की मीटिंग में भी यह मामला उठने पर ए.डी.सी. (डी.) ने विभाग को ऐसे स्कूलों के नाम भेजने को कहा था, जिन पर बैंकों ने मिनिमम बैंक चार्जिस लगाए हैं। अधिकारी के मुताबिक लीड बैंक मैनेजर के हस्तक्षेप से स्कूलों के यह पैसे वापस लौटाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी लेकिन कई स्कूलों ने रिपोर्ट भेजने में ही देर कर दी।

54,237 बच्चे वर्दी के इंतजार में 
यही नहीं सरकार ने लुधियाना के 518 अपर प्राइमरी स्कूलों में 6वीं से 8वीं कक्षा में पढऩे वाले 54,237 विद्यार्थइयों की वर्दियों के पैसे अभी तक नहीं भेजे हैं। इसके चलते इन स्कूलों के विद्यार्थी सर्दी के मौसम में मिलने वाली सरकारी वर्दी के इंतजार में हैं। विभाग के मुताबिक डी.सी. की ओर से मांगे जाने के बाद स्कूलों से मंगवाई रिपोर्ट में अब तक करीब 70 प्रतिशत स्कूलों ने वर्दी बांटने का दावा किया है। 

 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन