3 साल से राधे में के खिलाफ लड़ रही डॉली बिंद्रा,नहीं निकला कोई नतीजा

  • 3 साल से राधे में के खिलाफ लड़ रही डॉली बिंद्रा,नहीं निकला कोई नतीजा
You Are HerePunjab
Tuesday, September 12, 2017-12:33 PM

होशियारपुरः डेरा मुखी राम रहीम को सजा के बाद राधे मां भी दो मामलों की वजह से चर्चा में है। पहला साधुओं की संस्था की ओर से उन्हें फर्जी घोषित करना और दूसरा राधे मां के खिलाफ कपूरथला में दी गई एक दर्खास्त पर हाईकोर्ट का एस.एस.पी. कपूरथला को कंटैम्पट नोटिस भेजना, क्योंकि राधे मां के खिलाफ दर्खास्त पर कपूरथला पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। 


यही नहीं होशियारपुर पुलिस ने भी राधे मां के खिलाफ गंभीर आरोपों की दर्खास्त पर कोई कार्रवाई नहीं की। हैरानी ये है कि होशियारपुर पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के हुक्मों की धज्जियां उड़ाते हुए राधे मां के खिलाफ शिकायतकर्ता टी.वी. एक्ट्रैस डॉली बिंद्रा को यह कह दिया कि डॉली जी आपको मालूम है कि ऊपर से प्रेशर है। अगर आपने एफ.आई.आर. दर्ज करवानी है तो कोर्ट से आर्डर लेकर आएं और अब तक 3 साल बीत जाने के बाद भी डॉली बिंद्रा के मामले में न तो होशियारपुर पुलिस ने कोई कार्रवाई की है और न ही चंडीगढ़ पुलिस ने इस मामले में कुछ किया है। 


इस मामले में डॉलीबिंद्रा ने कहा, वह चुप नहीं बैठेंगी, राधे मां पर एफ.आई.आर. करवा कर रहेंगी। होशियारपुर और चंडीगढ़ पुलिस ने तो कह दिया था कि राधे मां के खिलाफ कुछ नहीं बनने वाला। सरकार उसकी सरेआम मदद करती रही और उन्हें अब यह आस बंधी है कि अब कार्रवाई होगी। इस संबंधी जब होशियारपुर के एस.एस.पी. जे एल.नचेलियन से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह मामला उनसे पहले का है और वह रिकार्ड देख कर ही कुछ कह सकते हैं। 


शिकायतकर्ता सुरिन्दर मित्तल मामला हाईकोर्ट में ले गए। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के ललिता कुमारी केस का हवाला दिया जिसके मुताबिक शिकायत मिलते ही एफआईआर दर्ज करना होता है लेकिन कपूरथला तो क्या होशियारपुर और चंडीगढ़ पुलिस ने भी जांच नहीं की गई। 

 
डॉली बिंद्रा जिस समय की बातकर रही है उस समय पंजाब में अकाली सरकार थी और सहयोगी पार्टी बीजेपी का एक बड़ा नेता राधे मां का बड़ा भक्त था और राधे मां दिल्ली में उसके घर चौकी लगाया करती थी जब राधे मां पर आरोपों का सिलसिला शुरू हुआ तो   वह नेता राधे मां की हिमायत पर गया था। जिसकी वजह से उस नेता ही नहीं बल्कि बीजेपी की काफी किरकिरी हुई थी। बीजेपी को यह बयान देना पड़ा था कि राधे मां के मामले में पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। 

 

डॉली बिंद्रा ने बताया, एक कंप्लेंट उन्होंने होशियारपुर पुलिस और एक चंडीगढ़ पुलिस को की थी। इस संबंधी कई बार वह मुंबई से होशियारपुर और चंडीगढ़ आती रहीं लेकिन होशियारपुर में तैनात एक एस.पी. रैंक के अधिकारी ने उन्हें यह कह कर लौटा दिया कि डॉली जी ऊपर से प्रेशर है इस दर्खास्त पर कोई कार्रवाई नहीं होगी और उसे घुमाते रहे। चंडीगढ़ पुलिस के एस.एस.पी. ने खुद यह कह दिया कि अगर आपने एफ.आई.आर. दर्ज करवानी है तो आप कोर्ट से आर्डर लेकर आएं। इन दोनों मामलों में पुलिस ने तो डॉली के बयान दर्ज किए और ही जांच के लिए बुलाया गया। 

 

असल में किसी टाइम डॉली बिंद्रा राधे मां की भक्त रही हैं। होशियारपुर पुलिस को डॉली बिंद्रा ने राधे मां उर्फ सुखविन्दर कौर के खिलाफ जो शिकायत की थी, उसके मुताबिक अगस्त 2014 में वह राधे मां के साथ मुकेरियां उसके घर आई थी। उसी दौरान उनका राधे मां से मन मुटाव हो गया था।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!