किसानों को आधार कार्ड से मिलेगी सबसिडी वाली खाद, बायोमीट्रिक प्रणाली शुरू

  • किसानों को आधार कार्ड से मिलेगी सबसिडी वाली खाद, बायोमीट्रिक प्रणाली शुरू
You Are HerePunjab
Tuesday, September 12, 2017-1:39 PM

मोगा (ग्रोवर): पंजाब में अब किसानों को आधार कार्ड से सबसिडी वाली खाद मिला करेंगी। केंद्र सरकार ने खादों की सबसिडी के फंडों में हेरा-फेरी रोकने के लिए सबसिडी की रकम किसानों के खातों में (डायरैक्ट बैनेफिट ट्रांसफर आफ फईिटलाइजर) योजना के अंतर्गत पंजाब में बायोमीट्रिक मशीन सिस्टम शुरू कर दिया गया है।

नैशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड (एन.एफ.एल.) और कृषि विभाग की ओर से आयोजित सैमीनार में बायोमीट्रिक मशीनों का प्रशिक्षण दिया गया। इन बायोमीट्रिक मशीनों को आधार से लिंक किया गया है। इस मौके पर खेती माहिर डा. जसविन्द्र सिंह बराड़ ने बताया कि पंजाब में बायोमीट्रिक मशीन सिस्टम 1 सितम्बर से शुरू हो चुका है। उन्होंने बायोमीट्रिक मशीन बारे जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि जब भी कोई किसान दुकानदार या किसी डीलर से खाद लेने जाएगा तो उसका मशीन में आधार कार्ड भरा जाएगा और आधार कार्ड होल्डर के फिंगर प्रिंट से मशीन काम करना शुरू करेगी। इस मशीन से किसान को खाद का पक्का बिल मिलेगा और इसका पूरा रिकार्ड सरकार के पास भी चला जाएगा। बराड़ ने बताया कि नैशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड (एन.एफ.एल.) और कृभकों की ओर से जिले में 287 बायोमीट्रिक मशीनें दुकानदारों, डीलरों और गांवों में सहकारी समितियों को बांटी गई हैं। इस मशीन का प्रयोग सिर्फ सबसिडी वाली एन.पी.के. खाद जिस में यूरिया, डी.ए.पी., पोटाश और सुपर खाद शामिल हैं, के लिए इस्तेमाल जरूरी है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!