समाना में डेंगू ने पांव पसारे, एक दर्जन से अधिक मरीज सिविल अस्पताल में भर्ती

  • समाना में डेंगू ने पांव पसारे, एक दर्जन से अधिक मरीज सिविल अस्पताल में भर्ती
You Are HerePatiala
Monday, October 23, 2017-6:03 PM

समाना(अशोक/शशिपाल): शहर में डेंगू ने अपने पांव पसारने से सिविल अस्पताल और प्राईवेट अस्पतालों में डेंगू पीड़ित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ौतरी हो रही है। पिछले दो दिनों में करीब एक दर्जन डेंगू पीड़ित मरीजों को समाना के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

 

सिविल अस्पताल समाना में ईलाज के लिए आनंद कालोनी निवासी सरजीवन कुमार (39) पुुत्र रामेशवर दास, अमरजीत सिंह (63) निवासी सैखों कालोनी, अजीत नगर समाना क ी बलजिंदर कौर (39) पत्नी दलजीत सिंह और गांव ललोछी निवासी हरमेश कौर (45) पत्नी गुरमेल सिंह, समाना की प्रताप कालोनी निवासी ज्योति (28) पत्नी सुशील कुमार, वीना रानी (25) पत्नी शमी निवासी कृष्णा बस्ती, संतोश कुमार (22) निवासी गोबिंद नगर राजला रोड, चांदनी पत्नी अजय कुमार निवासी कृष्णा बस्ती, दर्शना रानी (40) पत्नी चमन लाल निवासी कृष्णा बस्ती, जसविंदर सिंह (50) निवासी इंदरा पुरी, निताशा (16) पुत्री चांद राम निवासी मोतिया बाजार, गुरजीत कौर (42) पत्नी हाकम सिंह निवासी प्रीत नगर को भर्ती कराया गया। अस्पताल में आखिल मरीजों ने बताया कि उन्हें पिछले एक दो दिन से उल्टी और दस्त लगने से शरीर में कमजोरी महसूस होने लगी। जिसके बाद अस्पताल में भर्ती होने पर सिविल अस्पताल के डॉक्टरों ने उनके शरीर में सैल कम होने की बात कर ईलाज शुरू किया गया। 

           
                 
अस्पताल में एमरजेंसी में तैनात डॉक्टर जतिन डाहरा ने बताया अस्पताल में भर्ती होने वाले सभी मरीजों के शरीर के सैल कम पाए गए। इससे पूर्व रविवार को भी आधा दर्जन लोगों को डेंगू की शिकायत होने पर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को इस बात की पुष्टि करते हुए उन्होंने बताया कि उनके पास चार मरीजों को उल्टी और दस्त की शिकायत होने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है। अस्पताल में भर्ती करने के बाद उन सभी मरीजों का ईलाज शुरू कर दिया गया है। सिविल अस्पताल में अलग से डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए कोई व्यवस्था नहीं होने सबंधी पूछने पर डॉक्टर जतिन डाहरा ने बताया कि रविवार को ही कुछ मरीज उल्टी और दस्त की शिकायत को लेकर अस्पताल में आए है। इसके बाद से यह आकड़ा बढ़ता जा रहा है।

 

उन्होंने बताया कि अस्पताल में डॉक्टरों की कमी के चलते अभी तक डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए अलग से वार्ड नहीं बनाया जा सका है। इस सबंधी सिविल अस्पताल के एस.एम.ओ डा. राजपाल सिंह से सपर्क करने पर उन्होंने बताया कि स्टाफ की कमी से मरीजों का ईलाज करने में थोड़ी समस्या आ रही है। इस सबंधी सीनीयर अफसरों को जानकारी दे दी गर्ई है। उन्होंने आशा प्रकट करते कहा कि डॉक्टरों और स्टाफ के आने के बाद बहुत जल्द डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए अलग से वार्ड तैयार कर लिया जाएगा।    

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!