भाई को मिलने की लालसा लेकर दुनिया से विदा हो गई यह बहन

  • भाई को मिलने की लालसा लेकर दुनिया से विदा हो गई यह बहन
You Are HerePunjab
Friday, October 13, 2017-3:44 PM

लुधियाना(महेश): 4 दिन पहले गुज्जरमल रोड पर हुई 15 लाख की लूट के मामले में गिरफ्तार किए गए एक कथित आरोपी राकेश सैनी की 34 वर्षीय बड़ी बहन ने वीरवार को शिवपुरी के बसंत नगर स्थित अपने घर में फंदा लगाकर जान दे दी।

भाई पर केस दर्ज होने से आहत थी निधि
राकेश 5 बहनों का सबसे छोटा इकलौता भाई था, जबकि निधि इनमें सबसे बड़ी थी। वह शादीशुदा थी और उसके 2 बच्चे हैं। उसकी बड़ी बेटी 13 साल व छोटा बेटा आरूष 8 साल का है। बताया जाता है कि राकेश के चरित्र पर लगे दाग से निधि बेहद आहत थी। प्रात: उठकर पति दविंदर आनंद और बच्चों को स्कूल भेजने के बाद निधि ने सास-ससुर को नाश्ता करवाया। करीब 9 बजे खुद को कमरे में बंद करके फंदा लगा लिया। 

रस्सी के सहारे लटक रही थी निधि
इस बीच दविंदर, जोकि हौजरी का काम करता है, जब काम से घर आया तो उसकी माता ने उसे बताया कि निधि को वह कई बार आवाज लगा चुकी है, लेकिन वह कोई जवाब नहीं दे रही है। दविंदर ने जब ऊपर जाकर देखा तो कमरा अंदर लॉक था। जब दरवाजा तोड़ा गया तो अंदर निधि रस्सी के सहारे लटक रही थी। 

भाई को मिलने की लालसा लेकर दुनिया से विदा हो गई
निधि के पिता नरिंदर सैनी ने बताया कि निधि राकेश से बहुत प्यार करती थी। वह यह बात मानने को तैयार नहीं थी कि उसका भाई ऐसा-वैसा कुछ कर सकता है। वह राकेश से मिलने और उसकी एक झलक पाने के लिए 9 से 11 अक्तूबर तक सुबह से लेकर शाम तक थाने के बाहर खड़ी रही। उसने कई अधिकारी के समक्ष गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसे राकेश से नहीं मिलवाया। राकेश के मालिक ने भी मदद करने में असर्मथता दिखा दी। जिसके बाद भाई से मिलने की लालसा साथ लेकर वह दुनिया से विदा हो गई। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!