कुछ संस्थाएं हिन्दू, सिख तथा ईसाई भाईचारे में दरार डालने की फिराक में

  • कुछ संस्थाएं हिन्दू, सिख तथा ईसाई भाईचारे में दरार डालने की फिराक में
You Are HerePunjab
Thursday, September 14, 2017-11:06 AM

जालंधर (चावला): सिख तालमेल कमेटी, पंजाब क्रिश्चियन मूवमैंट, नैशनल क्रिश्चियन इंटरनैशनल फ्रंट, जत्था सिर लत्थ खालसा अमृतसर, सिख स्टूडैंट्स फैडरेशन, शिरोमणि अकाली दल अमृतसर, सिख यूथ फैडरेशन, दमदमी टकसाल अजनाला, इंटरनैशनल सिख फैडरेशन, सत्कार कमेटी अमृतसर आदि के नेताओं ने कहा कि अपना धर्म परिवर्तन कर क्रिश्चियन बने लोगों द्वारा चलाई जा रही कुछ संस्थाएं हिन्दू, सिख तथा ईसाई भाईचारे में दरार डालने की फिराक में हैं।

आज यहां प्रैस कॉन्फ्रैंस को संबोधित करते हुए सिख तालमेल कमेटी के नेता हरपाल सिंह चड्ढा, क्रिश्चियन भाईचारे के लारैंस चौधरी ने आरोप लगाया कि ईसाई धर्म के नाम पर कुछ डेरों द्वारा भोले-भाले लोगों को ठगा जा रहा है। लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि ईसाई धर्म के प्रचार की आड़ में अंधविश्वास फैलाकर धार्मिक संगठनों द्वारा सिखों व ईसाइयों के बीच दंगे फैलाने की साजिश रची जा रही है, जो समाज के लिए घातक है।

उन्होंने आरोप लगाया कि खाम्बरा, खोजेवाल, नकोदर, ताजपुर, लांबड़ा आदि में कुछ कथित पास्टर बाबा ईसाई धर्म के प्रचार की आड़ में अंधविश्वास फैला रहे हैं। आस्था के नाम पर 10 रुपए का तेल 300 रुपए में बेचा जा रहा है तथा अन्य चीजों पर अपनी फोटो लगाकर उन्हें महंगे रेट पर बेचा जा रहा है। भोले-भाले लोगों को भूत-प्रेतों का डर दिखाकर बीमारियों को ठीक करने के नाम पर ठगी करके अपनी करोड़ों की जायदाद बनाई जा रही है। उन्होंने इन पास्टरों पर आरोप लगाया कि ये लोगों के खातों तथा मोबाइलों मेें पैसे पडऩे का चमत्कार दिखाकर तथा विदेशों का वीजा लगवाने का विश्वास दिलाकर लोगों को ठग रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से मांग की कि इन कथित ईसाई प्रचारकों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!