सिविल अस्पताल की 6 एम्बुलैंसों में से चलती है सिर्फ एक, वह भी कंडम

  • सिविल अस्पताल की 6 एम्बुलैंसों में से चलती है सिर्फ एक, वह भी कंडम
You Are HerePunjab
Monday, September 11, 2017-12:19 PM

नवांशहर (मनोरंजन): कहने को तो सिविल अस्पताल नवांशहर में करीब आधा दर्जन एम्बुलैंस हैं पर चलती हालत में मात्र एक कंडम एम्बुलैंस है। इसका सही पता उस समय चलता है जब किसी मरीज को अस्पताल आना हो या फिर उसको रैफर कर दिया गया हो। अस्पताल की सभी एम्बुलैंस खस्ताहाल हो चुकी हैं। जिले से बाहर जाना तो दूर, जिले में ही चालकों को इन्हें ले जाने में डर बना रहता है। सभी एम्बुलैंस 4 लाख कि.मी. दूरी तय कर चुकी हैं, जिनकी स्थिति ज्यादा दूर जाने की नहीं रही। ऐसे में मरीजों को प्राइवेट एम्बुलैंस करनी पड़ती है, जिसके 3-4 गुना ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने इस बारे में विभाग को लिख कर नई एम्बुलैंस उपलब्ध करवाने की मांग की है।

108 एम्बुलैंस पर है दारोमदार: स्वास्थ्य विभाग की मानें तो जिला अस्पताल को करीब 6 एम्बुलैंस की जरूरत है। कई बार दुर्घटना वाली जगह पर कंडम एम्बुलैंस के देरी से पहुंचने के कारण जानी नुक्सान भी हो रहा है। 108 एम्बुलैंस पर दारोमदार है जिससे अस्पताल में मरीज को लाने व शिफ्ट करने का थोड़ा काम चलाया जा रहा है। 

इनके लिए फ्री है एम्बुलैंस: सड़क दुर्घटना में घटनास्थल से मरीज को अस्पताल में आने व उसको रैफर किए जाने की स्थिति में कोई चार्ज नहीं लिया जाता। 5 वर्ष तक के बच्चों को किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा दिलाने के लिए एम्बुलैंस फ्री होती है। गर्भवती महिला को लाने व वापस घर छोड़कर आने और रैफर की स्थिति में कोई शुल्क नहीं देना होता है। झुग्गी-झोंपड़ी, भट्ठा मजदूर व स्लम बस्तियों के लिए भी एम्बुलैंस फ्री है।

क्या कहते हैं एस.एम.ओ.: इस संबंध में सिविल अस्पताल के एस.एम.ओ. डा. हरविंद्र सिंह का कहना है कि अस्पताल की जरूरतों को विभाग के पास भेजा गया है। जल्द ही एम.पी. कोटे से एम्बुलैंस मिलने की संभावना है, जिसके बाद जनता को काफी लाभ होगा। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!