जलियांवाला बाग का शताब्दी वर्ष शहीदों को होगा समर्पित

  • जलियांवाला बाग का शताब्दी वर्ष शहीदों को होगा समर्पित
You Are HerePunjab
Tuesday, November 14, 2017-9:20 AM

अमृतसर  (महेन्द्र/ कमल): विश्व प्रसिद्ध शहीदी स्मारक जलियांवाला बाग के शानदार विकास हेतु व यहां पर आने वाले पर्यटकों को सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सभा सांसद श्वेत मलिक ने सोमवार को केन्द्र सरकार के सांस्कृतिक विभाग के मंत्री डा. महेश शर्मा से विशेष मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मांग की है कि 13 अप्रैल 2019 को जलियांवाला बाग शहीदी कांड के 100 वर्ष पूरे होने पर देशभर में शहीदों की स्मृति में श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित करवाने के साथ-साथ इस ऐतिहासिक शहीदी स्मारक के शानदार विकास के लिए केन्द्र सरकार से विशेष पैकेज की भी मांग की। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री ने उनकी इस मांग को स्वीकार करते हुए आश्वस्त किया है कि वर्ष 2019 शहीदों को समॢपत करते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विशेष कार्यक्रम आयोजित करवाया जाएगा, साथ ही इस ऐतिहासिक शहीदी स्मारक के उचित विकास के लिए केंद्र सरकार विशेष पैकेज भी जारी करेगी।

 


उन्होंने बताया कि इससे पहले उन्होंने अपने संसदीय कोष से जलियांवाला बाग के विकास के लिए 10 लाख रुपए की राशि जारी की थी, जिससे रंग-रोगन, शीतल पेयजल की मशीन, शौचालय में नई सैनेटरी फिटिंग, विजीटर गैलरी में पंखे, प्रथम स्तर पर शहीदों की स्मृति में पुन: डाक्यूमैंटरी शुरू करवाने के साथ-साथ फव्वारे व लाइटिंग की रिपेयर का काम करवाया जाना भी शामिल है। यह सभी काम चल रहे हैं। वर्ष 2013 में केंद्र की कांग्रेस सरकार द्वारा जलियांवाला बाग के विकास व रख रखाव के लिए ट्रस्ट बनाया गया था, जिसमें सांसद अंबिका सोनी, पूर्व सांसद एच.एस. हंसपाल तथा वीरेन्द्र कटारिया को ट्रस्टी बनाया गया था, लेकिन यह ट्रस्ट मृतप्राय रहा और इनके ट्रस्टियों ने न तो नियमित बैठकें कीं और न ही केंद्र सरकार से जलियांवाला बाग के विकास के लिए किसी विशेष पैकेज एवं बजट की ही मांग की थी। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!