Subscribe Now!

भाजपाई गरजे: ‘‘कैप्टन बताए कि गुटका साहिब वाली शपथ कहां गई’’

  • भाजपाई गरजे: ‘‘कैप्टन बताए कि गुटका साहिब वाली शपथ कहां गई’’
You Are HerePunjab
Tuesday, January 16, 2018-7:17 PM

बठिंडा(बलविंद्र): भाजपा जिला बठिंडा के वर्करों व नेताओं ने डी.सी. कार्यालय समक्ष धरना लगाकर कैप्टन सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते पूछा ‘‘कैप्टन बताए कि गुटका साहिब वाली शपथ कहा गई’’, जिसमें उन्होंने कहा था कि एक हफ्ते में पंजाब को नशा मुक्त कर दिया जाएगा। धरने का नेतृत्व कर रहे जिला प्रधान दयाल सोढी ने बताया कि कैप्टन ने गुटका साहिब को हाथ में उठाकर शपथ ली थी कि पंजाब को नशा मुक्त व भ्रष्टाचार मुक्त किया जाएगा। लेकिन 10 महीने बीत गए है, नशा व भ्रष्टाचार दोनों में वृद्धि हुई है। 

उन्होंने कहा कि 10 महीनों में कांग्रेसियों ने ओर तो कुछ किया नहीं लेकिन पंजाब को लूटने, रेता के ठेके लूटने, विरोधियों के साथ धक्केशाही, नगर कौंसिल चुनाव में लोकतंत्र का घान, दलितों व महिलाओं पर अत्याचार, गैंगवार, लूटपाट, थर्मल बंदी, प्राइवेट स्कूलों के जरिए लूट आदि अनेकों लोक विरोधी कार्य किए हैं। सोढी ने कहा कि सबसे बड़ा धोखा कैप्टन ने कर्जा माफी के नाम पर किसानों के साथ किया है, क्योंकि किसानों का सारा कर्जा माफ करने का ऐलान कर अब न पूरी होने वाली शर्तें रखी जा रही है। दयाल सोढी के नेतृत्व में भाजपा नेताओं का एक वफद डी.सी. बठिंडा को मिला, जिनको मुख्यमंत्री पंजाब के नाम एक मांग पत्र सौंपा गया। 

वायदे पूरे करने की मांग 
- किसानों का हर किस्म का कर्जा माफ किया जाए 
- खुदकुशी पीड़ित किसानों के परिवारों को 10 लाख रुपए मुआवजा व एक सरकारी नौकरी दी जाए 
- बेघर दलितों को घर व नौकरी दी जाए। 
- दलितों का 50 हजार रुपए तक का कर्जा माफ किया जाए। 
- दलित बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा व लड़कियों को 51 हजार रुपए शगुन दिया जाए। 
- युवकों को स्मार्टफोन, बेरोजगारों को नौकरियां या नौकरी भत्ते दिए जाए। 
- महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए। 
- बुजुर्ग, विधवाओं व दिव्यांग को मासिक पैंशन 1500 रुपए दी जाए। 
- उद्योगों के लिए बिजली 5 रुपए प्रति यूनिट दी जाए। 
- आटा-दाल स्कीम के साथ चीनी-चाय पत्ती भी दी जाए। 
- पंजाब में नशा खत्म किया जाए। 

कैप्टन अमरेंद्र सिंह व सारी वजारत इस्तीफा दे: दयाल सोढी 
पत्रकारों से बातचीत दौरान दयाल सोढी ने कहा कि कांग्रेसी मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने घपलेबाजी के आरोपों तहत इस्तीफा दिया है या उससे अस्तीफा लिया गया है। जिससे स्पष्ट है कि कांग्रेस ने मान लिया है कि लगे आरोप सही है। पहले कैप्टन ने उक्त को बचाने की कोशिश की, लेकिन मामला जग जाहिर होने के बाद उससे इस्तीफा लेना पड़ा। 

कांग्रेस का झुठा प्रचार करते भाजपा को शर्म आनी चाहिए: कांग्रेसी नेता 
कांग्रेसी नेताओं राम सिंह विर्क व मनदीप झुंबा ने कहा कि भाजपा नेताओं को कैप्टन अमरेंद्र सिंह या कांग्रेस के खिलाफ गलत प्रचार करने से पहले अपनी पीढ़ी नीचे सोटा जरूर मार लेना चाहिए। भाजपा को तो यह बात कहते हुए भी शर्म आनी चाहिए, क्योंकि कांग्रेस के मंत्री लोक सेवक हैं, जिन्होंने जरा सा आरोप लगने पर ही इस्तीफा दे दिया, जबकि अकाली-भाजपा सरकार के कई मंत्रियों पर अनेकों गंभीर आरोप लगे लेकिन वह नैतिकता की धज्जियां उड़ाकर कुर्सी से चिपके रहे। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन