कैप्टन के कर्ज माफी ऐलान के बाद पंजाब सरकार का बैंक संकट में

  • कैप्टन के कर्ज माफी ऐलान के बाद पंजाब सरकार का बैंक संकट में
You Are HerePunjab
Tuesday, July 18, 2017-9:29 AM

श्री माछीवाड़ा साहिब(टक्कर): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह की तरफ से चुनाव से पहले किसानों का बैंकों और आढ़तियों का सारा कर्ज माफ करने के ऐलान कारण अब सरकार बनने के बाद पंजाब सरकार का अपना बैंक ही इस कर्ज माफी के ऐलान के साथ संकट में घिर गया है क्योंकि किसानों की तरफ से कर्ज माफी के चक्कर में बैंक की करोड़ों रुपए लोन की किस्त अदा न की गई।

पंजाब के किसानों को कृषि के लिए हर तरह का कर्ज देने वाला कृषि सहिकारी विकास बैंक (लैड मारगेज बैंक) की सभी सूबे में करीब 89 ब्रांचें हैं। पंजाब सरकार के इस बैंक की तरफ से नबार्ड से कर्ज ले कर पंजाब के किसानों को करीब 2800 करोड़ रुपए कर्जे के रूप में बांटा हुआ है। बेशक यह बैंक जब से खुले हैं तब से लाभ में जा रहे हैं और जिस का किसानों को भी बेहद लाभ रहा है परन्तु जब से कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने कर्ज माफी का ऐलान किया उसके बाद इस बैंक के साथ जुड़े किसानों की तरफ से कर्जे की किस्त नहीं दी जा रही  जिस कारण  बैंक पर संकट के बादल छाए हुए हैं।

कांग्रेस के कर्ज माफी के ऐलान के बाद कृषि सहिकारी विकास बैंक की रिकवरी के हैरानीजनक आंकड़े प्राप्त हुए हैं। इसमें बैंक को पिछली धान की फसल दौरान 1550 करोड़ रुपए किसानों ने कर्जे की किस्तों के रूप में मोडऩा था, परन्तु केवल रिकवरी 165 करोड़ रुपए हुई। इस कारण बैंक के अधिकारियों के पैरों नीचे से जमीन खिसक गई और वह गांव-गांव किसानों के पास रिकवरी के लिए पहुंचे। बैंकों के अधिकारियों की कोशिशों के बावजूद भी किसानों के दिमाग में एक बात घर कर चुकी है कि कैप्टन सरकार की तरफ से जल्द ही किसानों का सारा कर्ज माफ किया जाएगा जिस कारण वह कर्जे की किश्तों देने से किनारा किए बैठे हैं। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !