कैप्टन ने कृषि वस्तुओं को GST के तहत टैक्स घेरे से बाहर रखने हेतु मोदी को लिखा पत्र

  • कैप्टन ने कृषि वस्तुओं को GST के तहत टैक्स घेरे से बाहर रखने हेतु मोदी को लिखा पत्र
You Are HerePunjab
Monday, September 25, 2017-11:41 PM

जालंधर(धवन): पंजाब के मुख्यमंत्री कै. अमरेन्द्र सिंह ने कृषि वस्तुओं को जी.एस.टी. के तहत टैक्स घेरे से बाहर रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर प्रभावित किसानों को राहत देने का मुद्दा उठाया है। 

मोदी को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि इनपुट्स पर जी.एस.टी. के तहत ऊंची टैक्स दरें लगाई गई हैं। उदाहरणतया कृषि उपकरणों तथा ड्रिप इरीगेशन इक्वीपमैंट पर वैट 5 प्रतिशत की बजाय 18 प्रतिशत लग गया है। इस तरह इन पर 13 प्रतिशत टैक्स अतिरिक्त लगा है। आंकड़ों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उर्वरकों पर पहले वैट 2 प्रतिशत था परन्तु अब उन पर 5 से 18 प्रतिशत जी.एस.टी. लगा दिया गया है। इसी तरह कीटनाशकों पर पहले वैट 12.5 प्रतिशत था जो अब 18 प्रतिशत लग चुका है। 

ट्रैक्टरों पर पहले वैट 6.05 प्रतिशत था, जबकि अब जी.एस.टी. 12 से 28 प्रतिशत लग चुका है। इसी तरह से डिब्बा बंद खाद्य उत्पादों पर पहले वैट 5 प्रतिशत था, परन्तु अब यह 12 प्रतिशत लग गया है। इस तरह विभिन्न उत्पादों पर वैट दरें 3 से बढ़कर 21.95 प्रतिशत लगा दी गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र इस समय भारी संकट के दौर से गुजर रहा है तथा किसानों की आमदनी गिरी हुई है। जी.एस.टी. के दौर में ऊंची टैक्स दरों ने किसानों की चिन्ताओं को और बढ़ा दिया है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!