पंजाबः BJP के अंदर खींचतान व आपसी गुटबाजी बढ़ी

  • पंजाबः BJP के अंदर खींचतान व आपसी गुटबाजी बढ़ी
You Are HerePunjab
Tuesday, September 12, 2017-12:49 PM

जालंधर (पाहवा): पंजाब में भारतीय जनता पार्टी की हालत किसी से छिपी नहीं है। खासकर करीब डेढ़ वर्ष से पार्टी का जमीनी कैडर पार्टी से और दूर हो गया है, जिस कारण पार्टी को विधानसभा चुनावों में भारी नुक्सान भी झेलना पड़ा। जमीनी वर्कर जो पार्टी के लिए मेहनत करता है, उसको दरकिनार करना विधानसभा चुनावों में हार का एक बड़ा कारण था लेकिन इसके बावजूद पार्टी ने सबक नहीं सीखा। पार्टी ने खींचतान व आपसी गुटबाजी इस हद तक हावी है, इसका उदाहरण हाल ही  में पंजाब आए भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी का दौरा है। 

असलियत में पंजाब में भाजपा की हालत को सुधारने के लिए अनिल बलूनी को केंद्रीय नेतृत्व ने तैनात किया, लेकिन दिलचस्प है कि राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख होने के बावजूद बलूनी के साथ की गई बैठक में भाजपा पंजाब मीडिया सैल के किसी भी नेता या पदाधिकारी को बुलाया नहीं गया। इस बैठक में अमृतसर के स्थानीय नेता ही मौजूद रहे। लेकिन मीडिया सैल या भाजपा के प्रदेश स्तर के प्रवक्ताओं को बलूनी से दूर रखा गया। 


यह बात अपने आप में इसलिए दिलचस्प है, क्योंकि बलूनी जो खुद मीडिया सैल से संबंध रखते हैं, उनकी इस प्रदेश स्तर की टीम को न तो उनसे मिलने दिया गया और न ही इस बारे में उन्हें कोई सूचना दी गई। उधर, इस संबंध में पंजाब भाजपा में प्रवक्ता तथा मीडिया सैल में काम कर रहे कुछ नेताओं के साथ बात की गई तो उन्होंने साफ कहा कि उन्हें बलूनी  के  पंजाब दौरे के बारे में अखबारों में छपे समाचारों से ही पता चला। उन्होंने कहा कि उन्हें आधिकारिक तौर पर कोई सूचना नहीं दी गई थी। 

राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी के पंजाब आगमन के बारे में न तो जानकारी थी और न ही सूचना दी गई। विनीत जोशी मीडिया सैल के प्रभारी हैं लेकिन उनकी तरफ से भी कोई जानकारी नहीं दी गई।’’ -राज  मैनरो,  सह संयोजक भाजपा मीडिया सैल। 


कहां आए हैं ? मुझे नहीं पता।  फोटो देख कर पता चला। पहले जनार्दन शर्मा देते थे सूचना, लेकिन अब उन्हें हटा दिया गया है। किसी अन्य ने भी कोई सूचना नहीं दी है।’’  - सुभाष गुप्ता, सह संयोजक भाजपा मीडिया सैल।


फोन पर बात हुई थी। उनके आने के बारे सूचना नहीं थी लेकिन सूत्रों से जानकारी मिली थी। इसके पीछे कारण क्या है, यह तो पार्टी हाईकमान को पता होगा। हम तो वर्कर हैं पार्टी के लिए काम कर रहे हैं।’-राजेश गर्ग

 

मुझे तो अखबार में पढ़ कर पता लगा कि वह पंजाब आए हैं। हो सकता है कि वह निजी दौरे पर हों, इसलिए  किसी के साथ मुलाकात न की गई हो। मुझे उनके आगमन के बारे कोई सूचना नहीं थी। ’’ -रजत महेंद्रू, प्रवक्ता भाजपा पंजाब।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!