ससुरालियों ने विवाहिता व उसके मां-बाप को पीटा

  • ससुरालियों ने विवाहिता व उसके मां-बाप को पीटा
You Are HerePunjab
Saturday, May 20, 2017-9:48 AM

जालंधर (शौरी): काला संघिया रोड के पास पड़ते कोट सदीक में आज ससुराल घर में किसी बात को लेकर विवाद हो गया जिस दौरान ससुराल व मायके पक्ष के लोगों में पहले जमकर गाली-गलौच हुआ और बाद में हाथापाई हो गई। इस दौरान विवाहिता व उसके मां-बाप सहित कुल 5 लोग घायल हो गए। घायलों का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने उन्हें बंधक बनाकर पीटा और बाद में उनके खिलाफ फर्जी एम.एल.आर. भी कटवाई। सिविल अस्पताल में भी दोनों पक्षों में बहसबाजी हुई जिस दौरान डाक्टर ने हूटर मारे तो पुलिस ने मामला शांत करवाया।

घायल अमिता उर्फ रीना पुत्री गुरमीत राम निवासी गुरु रविदास कालोनी दकोहा ने बताया कि उसकी शादी करीब 1 साल पहले कोट सदीक निवासी दविंद्र कुमार से हुई थी। शादी के बाद से ही पति, उसके मां-बाप व अन्य परिजन कथित तौर पर उससे दहेज की मांग करने के साथ मारपीट करते थे। कई बार पंचायती राजीनामे भी हो चुके हैं। घायल अमिता ने बताया कि आज उसके ससुराल वालों ने फिर से विवाद किया तो उसने फोन कर अपने परिजनों को बताया। जैसे ही उसकी मां ऊषा रानी, भाई प्रिंस, पिता गुरमीत राम व परिजन राल लुभाया ससुराल वालों से बातचीत करने घर पहुंचे तो देखते ही देखते उसके जेठ, सास, देवर व अन्य परिजनों ने लोहे की राड व बेस बैटों से हमला बोल दिया। खून से सनी हालत में वह सभी वहां से भागे और अपनी जान बचाई।

दूसरी ओर सिविल अस्पताल पहुंचे टेक चंद पुत्र यमुना दास ने पहले पक्ष के आरोपों को गलत करार देते हुए कहा कि पहले पक्ष ने उस पर व उसकी बुजुर्ग मां गुरबख्श कौर पर हमला किया है। अस्पताल पहुंचे कांग्रेसी नेता व पूर्व पार्षद जगदीश कुमार दकोहा ने पुलिस अधिकारियों से मांग की है कि हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो ताकि गुंडागर्दी करने वालों को सबक मिल सके। वहीं थाना भार्गव कैंप के इंस्पैक्टर राजेश ठाकुर का कहना है कि पुलिस ने घायल मायके पक्ष के लोगों के बयान दर्ज कर ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You