वकील की मौत के बाद श्मशानघाट में हुआ हंगामा

  • वकील की मौत के बाद श्मशानघाट में हुआ हंगामा
You Are HerePunjab
Sunday, August 13, 2017-11:56 AM

लुधियाना(तरुण):ओवरलॉक रोड स्थित ऑफिस में विशाल भारद्वाज नामक वकील की मौत हुई थी। प्राथमिक जांच में मामला खुदकुशी का था जिसका शनिवार सुबह सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम हुआ। दोपहर को विशाल के शव को संस्कार के लिए श्मशानघाट ले जाया गया जहां परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। 

परिजनों सहित मौजूद लोगों ने शव को श्मशानघाट से उठाकर जी.टी. रोड पर रख धरना प्रदर्शन किया और पंजाब पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाए। परिजनों का आरोप है कि विशाल ने खुदकुशी नहीं की है। विशाल के शरीर पर चोटों के निशान हैं। उसकी हत्या की गई है। सूचना मिलने के बाद ए.डी.सी.पी.-1 रतन सिंह बराड़, ए.सी.पी. सैंट्रल मनदीप सिंह संधू, थाना डिवीजन 2 व 3 के प्रभारी पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचे। उच्चाधिकारियों ने परिजनों को निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया व धरना प्रदर्शन बंद करवाया। 

मृतक के भाई संदीप ने बताया कि विशाल सेल टैक्स का वकील है जिसने करीब 1 महीना पहले मिल्लरगंज, ओवरलॉक रोड के निकट किराए पर ऑफिस लिया था। ऑफिस में उसके साथ एक लड़की भी काम करती थी। शुक्रवार रात्रि पुलिस ने उन्हें मोबाइल पर सूचना दी कि विशाल ने खुदकुशी कर ली है। वे सभी मौके पर पहुंचे जहां विशाल का शव पड़ा हुआ था। भाई सहित अन्य परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने धारा 174 की कार्रवाई करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेजा दिया जबकि विशाल के शरीर पर चोटों के निशान हैं। वहीं परिजनों ने ऑफिस में काम करने वाली लड़की पर शक जाहिर किया है।

क्या है मामला 
विशाल पेशे से वकील था जोकि अपनी पत्नी व 7 साल के बेटे के साथ टिब्बा रोड इलाके में रहता है। विशाल ने एक महीना पहले ओवरलॉक रोड पर किराए का ऑफिस लिया था, जहां पड़ोस की एक लड़की विशाल के ऑफिस में काम करती है। शुक्रवार सायं लड़की ऑफिस से चीखती हुई बाहर निकली। चीख-पुकार सुनकर मकान मालिक मौके पर पहुंचा तो देखा कि विशाल का शव पंखे से झूल रहा था, जिसके बाद इलाका पुलिस मौके पर पहुंची और कारवाई शुरू की। 11 अगस्त को विशाल का जन्मदिन था। यही दिन विशाल की मौत का दिन साबित हुआ है। वहीं विशाल की पत्नी सहित पूरा परिवार विशाल की मौत के बाद गहरे सदमे में है। 
 

सुसाइड नोट हुआ बरामद 
जांच अधिकारी सुखदेव ने बताया कि विशाल के ऑफिस से अंग्रेजी में लिखा सुसाइड नोट बरामद हुआ है जिसमें विशाल ने मौत का जिम्मेदार खुद को ठहराया है। प्राथमिक जांच में मामला सुसाइड का प्रतीत हो रहा है जिस कारण पुलिस ने धारा 174 की कार्रवाई की थी। परिजनों को आपत्ति होने पर शव को दोबारा पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया गया है। 

शव का दोबारा होगा पोस्टमार्टम 
ए.सी.पी. सैंट्रल मनदीप सिंह संधू ने बताया कि परिजनों के बयान पर ही पुलिस ने शव को दोबारा पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है। रविवार को डाक्टरों काबोर्ड विशाल के शव का पोस्टमार्टम करेगा। आने वाली रिपोर्ट के आधार पर बनती कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस ने मृतक के परिजनों के बयान नोट कर लिए हैं। वहीं सूत्रों के अनुसार इलाका पुलिस ने ऑफिस में काम करने वाली लड़की और उसके पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है।

छोड़ गए संस्कार का सामान 
पुलिस की ओर से कारवाई न होती देख भड़के परिजन विशाल के शव को वाहन में रखकर श्मशानघाट से निकल गए जिसके बाद उन्होंने टिब्बा रोड पर रोड जाम कर धरना प्रदर्शन किया। परिजन विशाल के संस्कार के लिए जो सामान लाए थे उसे श्मशानघाट में ही छोड़ कर चले गए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You