10 वर्षों के वनवास के बाद स्वतंत्रता दिवस के जिला स्तरीय कार्यक्रम में छाए कांग्रेसी

  • 10 वर्षों के वनवास के बाद स्वतंत्रता दिवस के जिला स्तरीय कार्यक्रम में छाए कांग्रेसी
You Are HerePunjab
Thursday, August 17, 2017-3:03 AM

जालंधर(चोपड़ा): 10 वर्षों का वनवास काटने के उपरांत गुरु गोङ्क्षबद सिंह स्टेडियम में आयोजित जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में कांग्रेसी पूरी तरह से छाए रहे। तिरंगा फहराने की रस्म को मुख्य मेहमान कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिन्द्र सिंह बाजवा ने अदा किया। 

इस दौरान स्टेडियम की वी.वी.आई.पी. व वी.आई.पी. दर्शकदीर्घा में कांग्रेस के प्रदेश व जिला स्तर के नेताओं का जमघट लगा रहा। इस दौरान उक्त नेता समारोह को देखने के दौरान खुद को खासे गद्गद् महसूस कर रहे थे और कई नेता तो समारोह के दौरान अपनी लाइव वीडियो बना व तस्वीरें सोशल मीडिया पर साथ-साथ ही डाले जा रहे थे। 

उल्लेखनीय है कि पिछले 10 सालों तक प्रदेश की सत्ता पर अकाली-भाजपा गठबंधन का कब्जा रहा था। बादल सरकार के कार्यकाल के दौरान अकाली-भाजपा नेताओं को ही ऐसे समारोह में विशेष निमंत्रण व महत्व दिया जाता रहा, जिस कारण कांग्रेस के नेता व पदाधिकारी खुद को अक्सर उपेक्षित महसूस करते रहे थे, परंतु प्रदेश में सत्ता की कुंजी कांग्रेस के हाथों में आई और राज्य में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की सरकार ने सत्ता की कमान संभाली, जिसके उपरांत आयोजित पहले राष्ट्रीय आयोजन को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों ने कांग्रेस नेताओं को ही अधिक महत्व दिया। 

वहीं कांग्रेस के विधायकों सुशील रिंकू, राजिन्द्र बेरी, जूनियर अवतार हैनरी, परगट सिंह, सुरिन्द्र चौधरी सहित जिला कांग्रेस शहरी के प्रधान दलजीत आहलूवालिया व देहाती के प्रधान कैप्टन हरमिन्द्र सिंह ने कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं व अपने समर्थकों को समारोह के अति विशिष्ट पास मुहैया करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। वहीं पिछले 10 सालों से आजादी दिवस पर तिरंगे को सलामी देने वाले अकाली-भाजपा नेता इस वर्ष के समारोह से नदारद रहे। 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !