Subscribe Now!

'एह अंबरसर नही ए, के दारू पला के ते मीट खला के कंम सर जाउ, ऐथे तां जेब ढिल्ली करनी पैंदी आ'

  • 'एह अंबरसर नही ए, के दारू पला के ते मीट खला के कंम सर जाउ, ऐथे तां जेब ढिल्ली करनी पैंदी आ'
You Are HerePunjab
Tuesday, February 13, 2018-9:25 PM

जालंधर(अजीत सिंह बुलंद): एस.एस.पी. विजीलैंस जालंधर रेज के निर्देशों पर आज विजीलैंस टीम ने डी.एस.पी. सतपाल चौधरी की अगुवाई में एक दुकान के आगे टेढे हुए बिजली के खंबे को सीधा करने के नाम पर 35 हजार रुपए रिश्वत मांगने वाले पंजाब पावर कारपोरेशन लिंम. सब डवीजन बस्तीयात, जालंधर के ए.जे.ई. सतपाल वासी गुरू हरकृष्ण नगर, बस्ती गुजां को रंगे हाथों 20 हजार रुपए लेते गिरफ्तार किया है। विजीलैंस ने जारी प्रैस ब्यान में कहा कि एक खंबा सीधा करने के नाम पर रिश्वत की मांग की जा रही थी। 

मैंनू कैंहदा, एह अंबरसर नहीं ए, के दारू पला के ते मीट खला के कंम सर जाउ, ऐथे तां जेब ढिल्ली करनी पैणी आ- गुरसाहिब 
मामले बारे सिर्फ पंजाब केसरी से खास बातचीत में शिकायतकत्र्ता गुरसाहिब सिंह पुत्र गुरविंद्र सिंह मौजूदा वासी पारस एनकलेव, बसती पीरदाद, जालंधर ने बताया कि असल में वो गुरदासपुर का रहने वाला है और यहां जालंधर में शेर सिंह कालोनी नहर के पास उसकी प्रॉपर्टी डीलर की दुकान है। उसने बताया कि उसकी दुकान के आगे एक बिजली का खंब टेढ़ा हुआ पड़ा था जिस कारण उसकी दुकान का रास्ता बंद हो रहा था। इसकी शिकायत उसने बिजली विभाग में की तो बिजली विभाग के ए.जे.ई. सतपाल से उसकी मुलाकात हुई। सतपाल को उसने उक्त खंबा सीधा करने को कहा पर सतपाल ने कहा कि इसके लिए तो उसकीसेवा करनी होगी। 

गुरसाहिब ने बताया कि मैंने सतपाल को कहा कि सेवा आप जैसी कहो वैसे पार्टी कर लेंगे। पर इस पर ए.जे.ई. सतपाल ने कहा कि एह कोई अंबरसर नहीं है कि दारू पिला के ते मीट खला के कंम हो जाउ ऐथे तां जेब ढिल्ली करनी पैंदी आ। इस के साथ ही उसने खंबा सीधा करने के नाम पर 35 हजार रुपए रिश्वत की मांग की। गुरसाहिब ने कहा कि 5 हजार रुपए उसने पहले ही दे दिए थे वो पैसे उसने सतपाल के दफ्तर के सारे स्टाफ के सामने दिए। पर उसके साथ ही सतपाल की पैसे मांगने और लेने की रिकार्डिंग कर ली। अगली 20 हजार की रकम आज देनी तय हई थी। इसी बीच गुरसाहिब के एक रिश्तेदार जो कि पुलिस में है उसने गुरसाहिब को कहा कि पैसे देकर काम करवाना गलत है। इसके बाद उन्होंने सारी सूचना विजीलैंस विभाग को दी। एस.एस.पी. विजीलैंस ने सारे केस को ट्रैप पर लगाया ओर आज जब सतपाल अपने दफ्तर के बाहर आकर 20 हजार रूपए जैसे ही गुरसाहिब से लिए तो विजीलैंस ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। 

विजीलैंस देख भागा सतपाल, तुडवा बैठा बाजू 
उधर जैसे ही चिक-चिक चौंक आदर्श नगर के पास बिजली विभाग का ए.जे.ई. सतपाल ने अपने दफ्तर के बाहर आकर गुरासहिब से पैसे लिए और वापिस जाने लगा तो विजीलैंस कर्मचारीयों ने उसे रूकने को कहा तो सतपाल को पत चल गया कि उसकी हेरा-फेरी पकड़ी गई है और वो विजीलैंस टीम को देखकर वहां से भाग खड़ा हुआ। पर ज्यादा तेज वो भाग नहीं पाया और ठोकर लगने से गिर गया जिससे उसकी बाई बाजू पर चोट लगी। जैसे ही विजीलैंस पुलिस ने उसे पकड़ा तो सतपाल ने बताया कि उसकी बाजू पर चोट लगी है।

विजीलैंस डी.एस.पी. सतपाल चौधरी और अन्य कर्मचारी आरोपी सतपाल को सिविल असपताल मैडिकल के लिए लेकर गए जहां पता लगा कि गिरने के कारण सतपाल की बांई बाजू में फ्रैक्चर आ गया है और वहां उसे पलस्तर लगाया गया। इसके बाद विजीलैंस ने उसे सरकारी गवाहों एस.डी.ओ. पुड्डा यादविंद्र सिंह, गुरचरण सिंह कृर्षि आफिसर, लैक्चरार मुनीष सेठी व विशाल अरोड़ा की गवाही में सतपाल पर केस दर्ज किया। उसके खिलाफ धारा 7-13-(2) पी.सी.एक्ट 1988 एफ.आई.आर नंबर-5 तिथी 13.2.18 दर्ज किया गया है। इस मौके विजीलैंस टीम के इंस्पैक्टर मनदीप सिंह, इंस. केवल सिंह, एच.सी. जगरुप सिंह, एच.सी.गुरजीत सिंह व कांसटेबल इंद्र सिंह आदि भी मौजूद थे। 
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन