लुधियाना बिल्डिंग हादसा, इमारत गिरने का वीडियो आया सामने, 8 की मौत

You Are HereLatest News
Thursday, November 23, 2017-3:30 AM

लुधियाना(ऋषि,नरेंद्र महेंद्रु,पंकज): लुधियाना के इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित पॉलिथीन बनाने वाली फैक्ट्री की इमारत भीषण आग लगने के बाद गिर गई। जिसके चलते इमारत के मलबे के नीचे फायर बिग्रेड के कर्मचारियों सहित डेढ़ दर्जन के करीब लोग दब गए। इस हादसे में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है।
PunjabKesariघटना सोमवार सुबह आठ बजे की है जब इंद्रसन्स नामक प्लास्टिक का लिफाफा बनाने वाली फैक्ट्री के ग्राउंड फ्लोर पर शार्ट सर्किट के कारण आग लग गई। इस फ्लोर पर भारी मात्रा में केमिकल, पेट्रोल और प्लास्टिक का भंडार होने के कारण देखते ही देखते आग ने पूरी इमारत को अपनी चपेट में ले लिया। घटना की खबर मिलते ही फायर बिग्रेड की दर्जनों गाडिय़ां आग पर काबू पाने के लिए घटना स्थान पर पहुंची। घंटों तक चले बचाव कार्य उपरांत जैसे ही आग थोड़ी कम हुई तो फायर बिग्रेड की दर्जन भर कर्मचारियों के अलावा फैक्ट्री मालिक इन्द्रजीत सिंह गोला के करीबी दोस्त और कर्मचारी जैसे ही इमारत के अंदर घुसे उसी समय जोरदार धमाकों साथ पांच मंजिला इमारत नीचे गिर गई और अंदर गए सभी लोग मलबे नीचे दब गए। 
PunjabKesari जानकारी के अनुसार प्लास्टिक का लिफाफा बनाने वाली इस चार मंजिला इमारत की सबसे ऊपरी मंजिल पर यह आग लग गई थी। इसके बाद इसने दूसरी मंजिल को भी अपनी चपेट में ले लिया। अमरसन पॉलीमर गोला नामक इस फैक्ट्री में जिस वक्त आग लगी उस वक्त यह फैक्ट्री बंद थी। अभी काम शुरू नहीं हुआ था। आग लगने के सही कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है । मगर कयास लगाए जा रहें हैं कि यह आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी है। 

एक किलोमीटर का एरिया किया सील, लाइट बंद
मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों की तरफ से 1 किलोमीटर तक के एरिया को सील कर दिया गया और इलाके की लाइट बंद कर बचाव कार्य किया जा रहा था। मलबे को हटाने के लिए नगर निगम की आधा दर्जन से ज्यादा क्रेनें काम कर रही थीं और भीड़-भाड़ वाला इलाका होने के कारण कई रास्ते बनाए गए थे। मौके पेर 200 से ज्यादा पुलिस अधिकारी और कर्मचारी कमान संभाले हुए थे।

अगर नियमों की उल्लंघना की गई तो होगी कार्रवाई : पन्नू
प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन व सीनियर आई.ए.एस. अधिकारी काहन सिंह पन्नू ने लुधियाना फैक्ट्री में लगी आग संबंधी कहा कि वह इसकी जांच करवाएंगे व अगर प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के नियमों की उल्लंघना फैक्टरी ने की तो कार्रवाई होगी। उन्होंने इस तरह की फैक्ट्री यूनिटों को निर्देश दिए कि वे नियमों की पालना करें। 

इन लोगों के मलबे के नीचे होने की आशंका
1. एस.एफ.ओ राजिंदर कुमार शर्मा
2. एस.एफ.ओ. राज कुमार 
3. फायरकर्मी मनप्रीत सिंह
4. फायरकर्मी मनोहर लाल 
5. फायरकर्मी सुखदेव सिंह
6. फायरकर्मी विशाल कुमार 

इतने बजे अस्पताल पहुंचे शव 
-1.45 बजे दोपहर इंद्रपाल सिंह का। 
-3.51 बजे दोपहर पूर्ण सिंह का। 
-4.00 बजे शाम गिल का।
-7.30 बजे शाम घायल विक्की कुमार एमरजैंसी में पहुंचा। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!