गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव में 56 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद

  • गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव में 56 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत EVM में कैद
You Are HerePunjab
Wednesday, October 11, 2017-9:07 PM

गुरदासपुर: गुरदासपुर लोकसभा सीट के लिये आज हुए उपचुनाव में 56 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया और इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का बटन दबा कर चुनाव में उतरे 11 उम्मीदवारों की राजनीतिक किस्मत लॉक कर दी। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी वी.के. सिंह ने बताया कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनावों में इस सीट पर 70़.03 प्रतिशत मतदान हुआ था।

PunjabKesariगुरूदासपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत नौ विधानसभा क्षेत्रों में से डेरा बाबा नानक में सर्वाधिक 65 प्रतिशत और बटाला में सबसे कम 50 प्रतिशत मतदान हुआ। अन्य विधानसभा क्षेत्रों फतेहगढ़ चूड़यिां में 63 प्रतिशत, भोआ 60 प्रतिशत, कादियां 57 प्रतिशत, पठानकोट, गुरदासपुर, सुजानपुर और दीनानगर में 54-54 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। सिंह के अनुसार मतदान कुल मिला कर शांतिपूर्ण रहा तथा इस दौरान चार शिकायतें प्राप्त हुईं।

   
बताया जाता है कि मतदान के दौरान कांग्रेस और अकाली कार्यकत्र्ताओं के बीच झड़पों की कुछ घटनाएं हुईं। पाहरा मतदान केंद्र पर कांग्रेस कार्यकत्र्ताओं के तेज धारदार हथियारों से किए गए हमले में अकाली नेता हैप्पी पाहरा और उसके चार साथी घायल हो गए। पाहरा कांग्रेस विधायक वरिंदरमीत सिंह पाहरा का पैतृक गांव है। पठानकोट विधानसभा क्षेत्र के पंगोली गांव में आम आदमी पार्टी (आप) प्रत्याशी मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) सुरेश कुमार खजूरिया की कांग्रेस के पोलिंग एजेंट के साथ टकराव हो गया। मतदान के दौरान वीवीपीएटी मशीनों में खराबी की शिकायतें मिली हैं। कादियां विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 152 पर यह मशीन सुबह 11 बजे तक नहीं चली जिस पर इसे बदलना पड़ा। पठानकोट विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 111 में यह मशीन तीन बार बदली गई। 


आज के उपचुनाव के लिए 1781 मतदान केंद्र बनाए गए थे। इस चुनाव में मुख्य रूप से मुकाबला राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष एवं उम्मीदवार सुनील जाखड़, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-शिरोमणि अकाली दल (शिअद) गठबंधन प्रत्याशी स्वर्ण सलारिया के बीच है। आम आदमी पार्टी ने भी मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) सुरेश कुमार खजुरिया को चुनाव मैदान में उतारा है। मेघ देशम पार्टी की संतोष कुमारी, शिअद-अमृतसर के कुलवंत सिंह, हिंदुस्तान शक्ति सेना के रजिंदर सिंह के अलावा पांच निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में हैं। मतगणना 15 अक्तूबर को होगी तथा उसी दिन परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। यह सीट भाजपा के चार बार सांसद रहे विनोद खन्ना के निधन से रिक्त हुई थी। 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!