Subscribe Now!

पुलिस ने 4 लाख 80 हजार की लूट की झूठी कहानी का पर्दाफाश किया

  • पुलिस ने 4 लाख 80 हजार की लूट की झूठी कहानी का पर्दाफाश किया
You Are HerePunjab
Monday, January 22, 2018-5:24 PM

श्री मुक्तसर साहिब(तनेजा): गत 16 जनवरी को जिले के गांव बादल व मंडी किलियांवाली में एक लूट की वारदात का पर्दाफाश हुआ है। 

जानकारी अनुसार जिला पुलिस प्रमुख सुशील कुमार पी.पी.एस. ने आज एक प्रैस बैठक दौरान मीडिया को बताया कि दिनांक 16-01-2018 को गुरतेज सिंह पुत्र जवाहर सिंह निवासी फरीदकोट कोटली, जिला बठिंडा ने थाना लम्बी की पुलिस को यह सूचना दी थी कि वह और उसके साथ कुलदीप सिंह उर्फ रमन पुत्र सुरजीत सिंह जो कि उसके ही गांव का निवासी है तथा वह इकठ्ठे ही मिस्त्री का कार्य करते हैं। जब वह उस दिन एच.डी.एफ.सी. बैंक गांव बादल से 4,80,000 रुपए निकलवा कर अपने मोटरसाइकिल पर सवार हो कर जा रहे थे तो उन्होंने मंडी किलियांवाली के पास पीछे से आ रहे दो मोटरसाइकिलों पर सवार 5 अज्ञात व्यक्तियों द्वारा किरचों के साथ घायल करके उनसे बैंक में से निकलवाई गई सारी राशि छीन कर फरार हो गए थे जिसके आधार पर पुलिस ने थाना लम्बी में मुकदमा दर्ज किया था। 

उन्होंने बताया कि जिला पुलिस द्वारा उसी दिन से ही घटना के साथ सम्बन्धित हर पहलू से जांच की जा रही थी। घटना का सुराग लगाने के लिए जिला पुलिस प्रमुख के दिशा-निर्देश अनुसार बलजीत सिंह पी.पी.एस. कप्तान पुलिस (इन्नवै.) श्री मुक्तसर साहिब, इंस्पैक्टर प्रताप सिंह प्रभारी सी.आई.ए. के अतिरिक्त मुख्य अधिकारी थाना लम्बी और इंचार्ज चौंकी किलियांवाली द्वारा लगातार परिश्रम किया जा रहा था। 

अंत इन सभी की समूची कोशिशों का परिणाम यह निकला कि यह बात बिल्कुल साफ हो गई कि दिनांक 16-01-2018 को किसी किस्म की लूट की घटना हुई ही नहीं थी बल्कि इनकी तरफ से स्वयं ही यह सारी राशि निजी तौर पर हड़प करने के लिए एक मनघड़त झूठी कहानी बना कर व पुलिस को गुमराह करके झूठा मुकदमा दर्ज करवाया गया था। इन आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद जब पुलिस ने इनसे सख्ती से पूछताछ की तो इन्होंने अपने तरफ से किए गुनाह को कबूल कर लिया तथा इनसे बताई गई छीनी हुई सारी राशि 4,80,000 रुपए भी बरामद कर लिए गए हैं तथा आरोपियों के खिलाफ जुर्म में 109,114,115,182,193,195,203, बी हिं.दं. की बढ़ौत्तरी की गई है जबकि पुलिस जांच अभी भी जारी है।  

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन