देश में 22 लाख ड्राइवरों की कमी, सरकार खोलेगी 2000 ड्राइविंग स्कूल: गडकरी

  • देश में 22 लाख ड्राइवरों की कमी, सरकार खोलेगी 2000 ड्राइविंग स्कूल: गडकरी
You Are HereNational
Tuesday, September 19, 2017-8:57 PM

वडोदरा: केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि देश में सड़क दुर्घटना से हर साल होने वाली लगभग डेढ़ लाख मौतों को कम करने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं, साथ ही सरकार करीब 22 लाख प्रशिक्षित चालकों की कमी को देखते हुए 2000 आधुनिक ड्राइविंग स्कूल भी खोलेगी। 


देश के 18 राज्यों के परिवहन मंत्रियों, सचिवों, आयुक्तों और अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में यहां राष्ट्रीय परिवहन विकास परिषद की 38 वीं बैठक को बैठक को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि सरकार 12 राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण करने जा रही है। इसके अलावा वडोदरा और मुंबई के बीच यात्रा अवधि को ढाई से तीन घंटे तक कम करने में सक्षम 44 हजार करोड़ की लागत वाले वडोदरा मुंबई एक्सप्रेसवे का काम अलगे माह शुरू हो जाएगा। 


उन्होंने जीएसटी लागू होने के बाद देश भर से चेकपोस्ट हटाने का काम तेजी से करने की बात कहते हुए कहा एक अध्ययन के मुताबिक इन चेकपोस्ट के चलते हर साल करीब एक लाख करोड़ रूपए का नुकसान होता था। उन्होंने कहा कि देश में तेजी से बढ़ रहे वाहन उद्योग की वृद्धि दर 22 प्रतिशत सालाना है और अगर यह ऐसे ही बढ़ता रहा तो प्रदूषण के अलावा एक नया लेन बनाने के लिए हर साल 80 हजार करोड़ की जरूरत होगी। ऐसे में हमे सस्ते और बैट्री चालित वाहनों के इस्तेमाल को बढ़ावा देने तथा ऐसे प्रदूषण रहित सार्वजनिक वाहन प्रणाली को विकसित करने की जरूरत है। 

 

उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं पर रोक के लिए सड़क निर्माण तथा वाहन प्रणाली में वैश्विक मापदंड अपनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार दुर्घटना प्रभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर इन्हें दूर करेगी। पहली बार दिल्ली से बाहर हुई इस बैठक में राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, मेघालय, कर्नाटक, उड़ीसा, गोवा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, असम और झारखंड सहित कई अन्य राज्यों के परिवहन मंत्री, सचिव और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। इन्होंने वडोदरा के अत्याधुनिक बस पोर्ट और दरजीपुरा के आटीओ कार्यालय की विभिन्न सुविधाओं एवं ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक का जायजा भी लिया।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!