बैंकों को 9,676 करोड़ का कर्जा देने के लक्ष्य पर लगाई मोहर

  • बैंकों को 9,676 करोड़ का कर्जा देने के लक्ष्य पर लगाई मोहर
You Are HereLatest News
Wednesday, December 13, 2017-2:16 PM

मोगा (ग्रोवर): नाबार्ड द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए मोगा जिले के बैंकों को कर्जा प्रदान करने के लिए जारी वर्ष से 7.73 प्रतिशत अधिक कर्ज राशि देने का लक्ष्य निश्चित किया गया है और जिले के बैंकों को 9,676 करोड़ रुपए के कर्ज देने के लक्ष्य पर मोहर लगाई है। एडीशनल डिप्टी कमिश्नर (विकास) राजेश त्रिपाठी ने लीड बैंक मोगा की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि नाबार्ड द्वारा जिले की कारोबारी संस्थाओं व बैंकों की प्रगति के आधार पर संभावित कर्जा योजना तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि बैंक अधिकारी सरकार द्वारा दी जा रही सहूलियतों व भलाई स्कीमों को निचले स्तर तक लागू करने को यकीनी बनाएं।

उन्होंने बैंकों की सरकारी स्कीमों को पारदर्शी व ईमानदारी से लागू करने की हिदायतें देते हुए बैंक के कामकाज की प्रशंसा की। नाबार्ड डी.डी.एम. नरेन्द्र कुमार ने बताया कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की हिदायतों पर नाबार्ड द्वारा हर वर्ष जिले के बैंकों को कर्जा देने के लिए क्रैडिट प्लान तैयार किया जाता है।

इस अवसर पर एडीशनल डिप्टी कमिश्नर ने नाबार्ड द्वारा तैयार किया गया क्रैडिट प्लान भी रिलीज किया। बैठक में डी.डी.एम. नाबार्ड नरेन्द्र कुमार, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के ए.जी.एम. संजीव जैन, जिला लीड मैनेजर स्वर्णजीत सिंह गिल, विभिन्न बैंकों के जिला तालमेल अधिकारी व सरकारी एजैंसियों के अधिकारी उपस्थित थे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन