सरकारी स्कूलों में सफलतापूर्वक शुरू हुई प्री-प्राइमरी कक्षाएं

  • सरकारी स्कूलों में सफलतापूर्वक शुरू हुई प्री-प्राइमरी कक्षाएं
You Are HereLatest News
Wednesday, November 15, 2017-2:54 PM

अमृतसर (दलजीत): पंजाब सरकार द्वारा देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्म दिवस को समर्पित आज से सरकारी स्कूलों में प्री-प्राइमरी कक्षाएं शुरू कर दी गई हैं। 
राज्य के 12,500 प्राइमरी स्कूलों में 1 लाख 10 हजार के करीब विद्याॢथयों ने आज पहले दिन अत्याधुनिक तकनीकों से लैस सरकारी क्लास रूमों में शिक्षा हासिल की। अमृतसर ही एक मात्र जिला है, जिसमें 10 हजार विद्यार्थियों ने प्री-प्राइमरी में विशेष रूचि दिखाते हुए दाखिला लिया है।

जानकारी के अनुसार पंजाब सरकार के आदेशानुसार राज्य भर के प्राइमरी स्कूलों में 14 नवम्बर से प्री-प्राइमरी क्लासें शुरू करने का फैसला लिया गया था। सरकार के आदेश को कार्यान्वित करते हुए शिक्षा विभाग उक्त क्लासों के बच्चों को आकर्षक ढंग से पढ़ाई करवाने के लिए सरकारी क्लास रूमों को अत्याधुनिक तकनीकों से लैस किया है। बच्चों के लिए चार्ट, पोस्टर, बैनर आदि लगाकर कमरे विशेष तौर पर तैयार किए गए हैं। 

रजिस्ट्रेशन के लिए एक विशेष काऊंटर लगाकर रजिस्टर में 3 से 6 साल के बच्चों का दाखिला कर उस का नाम दाखिला खारिज रजिस्टर और हाजिरी रजिस्टर में दर्ज किया गया है। इसके अलावा बच्चों के स्कूल में पहले दिन को दिलचस्प ढंग से मनाने के लिए स्वागती कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। 

बच्चों को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं 
प्री-प्राइमरी क्लासें अत्याधुनिक तकनीकों से लैस हैं। क्लास रूमों में जहां पुस्तक और खिलौनों के विशेष कार्नर स्थापित किए गए हैं, वहीं अध्यापक बच्चों को बाल गीत और दिलचस्प कहानियां सुना कर उनका मनोरंजन कर रहे हैं। इसके अलावा दिलचस्प किताबों आदि के द्वारा बच्चे शिक्षा हासिल करेंगे। दक्ष अध्यापक और वर्करों की देख-रेख में बच्चे क्लास रूमों में रहेंगे। क्लास रूम साफ-सुथरे हैं। बच्चों को किसी प्रकार की समस्या न आए, स्कूल का स्टाफ विशेष तौर पर ध्यान दे रहा है।

अभिभावकों व गण्यमान्य व्यक्तियों का हुआ भव्य स्वागत
देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्म दिन मौके आज से शुरू हुई प्री-प्राइमरी कक्षाओं में बच्चों के अभिभावकों तथा गण्यमान्य व्यक्तियों को सभी स्कूलों द्वारा न्यौता भेजा गया व उनका भव्य स्वागत किया गया। जिले में हुए प्रोग्रामों में गांव के सरपंच और अन्य गण्यमान्य सज्जनों और आंगनबाड़ी वर्कर और हैल्परोंं ने हिस्सा लिया। विभाग का मुख्य लक्ष्य प्री-प्राइमरी क्लास रूमों को दिखाकर सरकार के उद्देश्य को लोगों तक पहुंचाना था। 

पढ़ो पंजाब तैयार करेगा अनमोल हीरे
प्राइमरी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता के लिए शिक्षा विभाग द्वारा पढ़ो पंजाब, पढ़ाओ पंजाब प्रोजैक्ट चलाया जा रहा है। प्रोजैक्ट में पहली क्लास में दाखिला लेने वाले बच्चों को प्राइमरी शिक्षा ग्रहण करने के लिए तैयार करना और उन का सर्वपक्षीय विकास करने के लिए प्री-प्राइमरी कक्षाएं शुरू करने का काम किया गया है। 

अध्यापकों में प्री-प्राइमरी शिक्षा को लेकर उत्साह 
जिला शिक्षा अधिकारी एलीमैंटरी सुखविन्द्र सिंह से इस संबंध में जब बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि अध्यापकों में प्री-प्राइमरी कक्षाओं को लेकर भारी उत्साह है। जिले के स्कूलों में बड़ी संख्या में बच्चे दाखिल हो रहे हैं। आज आयोजित स्वागती कार्यक्रमों ने अभिभावकों का मन मोह लिया है। बच्चों के अलावा अध्यापकों में भी काफी उत्साह है। विभाग द्वारा शुरू की गई योजना के भविष्य में काफी सार्थक परिणाम सामने आएंगे। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!