नगर निगम की जनरल हाऊस की बैठक में फिर हुआ हंगामा, पार्षदों में हुई नोकझोक

  • नगर निगम की जनरल हाऊस की बैठक में फिर हुआ हंगामा, पार्षदों में हुई नोकझोक
You Are HereLatest News
Saturday, November 18, 2017-1:21 PM

फगवाड़ा(जलोटा): फगवाड़ा नगर निगम की आज हुई जनरल हाऊस की बैठक में एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ। मीटिंग में 50 पार्षदों वाले हाऊस में 45 पार्षदों ने हिस्सा लिया जबकि 5 पार्षद जिनमें भाजपा पार्षद संजय ग्रोवर, पार्षद मनजीत कौर, जसविंद्र कौर, रमेश कौल व एक अन्य पार्षद गैर-हाजिर पाए गए। बैठक में एक ओर जहां निगम कमिश्नर बख्तावर सिंह नहीं पहुंचे तो वहीं उनकी गैर-हाजिरी में सहायक कमिश्नर सुरजीत सिंह मीटिंग में मौजूद रहे। 

बैठक के दौरान भाजपा मेयर अरुण खोसला रुक-रुक कर होती रही तीखी नोकझोक व पार्षदों द्वारा लगाए जा रहे कई संगीन आरोपों के मध्य निगम स्तर पर हाऊस में रखे गए कुल 31 प्रस्तावों में से 28 प्रस्ताव पारित करवाने में सफल हो गए, वहीं 2 प्रस्ताव पैंङ्क्षडग रखे गए हैं, जबकि 1 प्रस्ताव जिसे स्वयं अकाली दल (ब) के डिप्टी मेयर रंजीत सिंह खुराना ने प्रस्तुत किया, को लेकर निगम हाऊस द्वारा 5 पार्षदों की विशेष कमेटी गठित कर दी गई है। बैठक की शुरूआत होते ही कांग्रेसी पार्षदों रामपाल उप्पल, मुनीष प्रभाकर, संजीव बुग्गा, जतिन्द्र वरमानी, गुरबचन सिंह वालिया आदि अन्य पार्षदों ने निगम द्वारा पिछली बैठक की प्रोसीडिंग बदलने को लेकर भारी हंगामा शुरू कर दिया। 

इसके चलते हालात तब खासे गर्मा गए जब हाऊस में भाजपा मेयर अरुण खोसला व कांग्रेसी पार्षद गुरबचन सिंह वालिया में बहस हो गई। इसे देखते हुए अन्य कांग्रेसी पार्षदों ने भी वालिया का साथ देते हुए मेयर खोसला को घेरना शुरू कर दिया। इसके चलते कांग्रेस पार्षदों ने निरंतर आरोप लगाया कि पिछली बैठक की प्रोसीङ्क्षडग में बदलाव किए गए हैं जो कि पूरी तरह से गलत हैं जबकि भाजपा पार्षद रीटा रानी अपने वार्ड में पानी की टंकी के मामले को लेकर जमकर बरसी।

 इसी तर्ज पर भाजपा पार्षद चंदा मिश्रा ने वार्ड में ट्यूबवैल लगाने का मामला प्रमुखता से उठाया तो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पार्षद रवि ने आरोप लगाया कि जनता के प्रतिनिधि होने के बावजूद निगम कमिश्नर से मिलने के लिए पार्षदों को बाहर इंतजार करना पड़ता है। एक सीनियर अकाली नेता व पार्षद ने कहा कि शहर में लगे एल.ई.डी. लाइटों में घपला होने का उनको पुख्ता तौर पर अंदेशा है और हाऊस इस गंभीर मुद्दे को लेकर तुरंत जांच करवाए।कांग्रेसी पार्षदों ने भाजपा मेयर पर गाड़ी किराए पर लेने के मामले को मुद्दा बना इसका विरोध किया। 

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!