अतिक्रमण हटाने आए नगर कौंसिल व ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों के विरुद्ध दुकानदारों में रोष

  • अतिक्रमण हटाने आए नगर कौंसिल व ट्रैफिक पुलिस कर्मचारियों के विरुद्ध दुकानदारों में रोष
You Are HereLatest News
Wednesday, November 29, 2017-12:14 PM

बरनाला (विवेक सिंधवानी,गोयल): बस स्टैंड रोड पर उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब अतिक्रमण हटाने आए ट्रैफिक पुलिस व नगर कौंसिल के कर्मचारियों ने बस स्टैंड रोड पर दुकानों के बाहर पड़ा सामान उठाना शुरू कर दिया। इस पर दुकानदारों ने हंगामा कर दिया परंतु विरोध के बावजूद नगर कौंसिल व ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारी दुकानों से बाहर पड़ा सामान उठाकर ले गए। इस बात से भड़के दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करके बस स्टैंड रोड को धरना लगाकर जाम कर दिया। इस दौरान दुकानदारों के हक में व्यापार मंडल के अध्यक्ष नैब सिंह काला व अनिल बांसल भी पहुंच गए। 

‘ट्रैफिक इंचार्ज ने दी गंदी गालियां व गाड़ी दुकानदारों के ऊपर चढ़ाने की कोशिश की’
बस स्टैंड रोड के दुकानदार भोला सिंह जस्सल ने ट्रैफिक इंचार्ज पर कथित तौर पर आरोप लगाते हुए कहा कि ट्रैफिक इंचार्ज ने दुकानदारों के साथ दुर्व्यवहार किया है।उसने दुकानदारों को गालियां दी व दुकानदारों के ऊपर अपनी गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की। जिसके विरोध स्वरूप ही उन्होंने अपनी दुकानें बंद करके रोड जाम किया है। जब तक उक्त अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की जाती तब तक हमारा संघर्ष इसी तरह जारी रहेगा। 

मुझ पर लगाए सारे आरोप बेबुनियाद : ट्रैफिक इंचार्ज
 इस संबंधी ट्रैफिक इंचार्ज सरदारा सिंह का कहना है कि ‘दुकानदारों द्वारा जो उस पर आरोप लगाए जा रहे हैं वे सभी बेबुनियाद हैं।मैंने किसी दुकानदार को गाली नहीं दी और न ही किसी दुकानदार के ऊपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की है। नगर कौंसिल के कर्मचारी सामान उठा रहे थे हम तो ट्रैफिक को चालू कर रहे थे’। 

कई टैक्स भरने के बावजूद दुकानदारों को किया जा रहा है परेशान
 व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष शीशन बांसल, प्रशांत काकू ने बताया कि दुकानदारों ने यहां पर डेढ़-डेढ़ करोड़ की दुकानें खरीदी हैं। हमारे द्वारा सरकार को इंकम टैक्स, सेल टैक्स व हाऊस टैक्स भी दिया जा रहा है। इसके बावजूद भी जिला प्रशासन द्वारा दुकानदारों को परेशान किया जा रहा है। हम सरकार को इतना टैक्स अदा करते हैं इसके बावजूद भी सरकार उन्हें यह कहकर तंग करती है कि आपने दुकानों के आगे अतिक्रमण किया हुआ है। हमारी दुकानों के अंदर जाकर भी नगर कौंसिल के कर्मचारी सामान उठाकर ले गए जबकि कई रेहड़ी वाले सड़क के बीच में रेहड़ी लगाकर अतिक्रमण करते हैं उनको कोई कुछ नहीं कहता, सारी गाज दुकानदारोंपर ही गिरती है जिसको हम हरगिज बर्दाश्त नहीं करेंगे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!