Subscribe Now!

कांग्रेस की शिअद को चुनौती-कहा एन.डी.ए. सरकार ने 1984 दंगों की जांच क्यों नहीं करवाई

  • कांग्रेस की शिअद को चुनौती-कहा एन.डी.ए. सरकार ने 1984 दंगों की जांच क्यों नहीं करवाई
You Are HereJalandhar
Monday, February 12, 2018-5:16 PM

 जालन्धर (धवन): पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने 1984 के दिल्ली दंगों को लेकर शिरोमणि अकाली दल व भाजपा को चुनौती देते हुए कहा है कि अब केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली एन.डी.ए. सरकार सत्ता में है जो 1984 के दंगों की समयबद्ध जांच करवा सकती है। इस मामले में रोज-रोज की राजनीति करने की बजाय इन मसलों की निष्पक्ष जांच करवा कर दोषी को सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए। केंद्र में वाजपेयी के नेतृत्व में राजग की सरकार 6 वर्षों तक रही तथा अब केंद्र में राजग की सरकार 4 वर्षों से सत्ता में है परन्तु उन्होंने दिल्ली दंगों की जांच क्यों नहीं करवाई।

अब भी केंद्र में पौने 4 वर्षों से राजग की सरकार सत्ता में है। इस कारण सी.बी.आई. सहित सभी जांच एजैंसियां केंद्र सरकार के नियंत्रण में है। इसलिए अकाली दल तथा भाजपा को चाहिए कि वह 1984 के दिल्ली दंगों पर राजनीति करने की बजाय इस मामले को अंजाम तक पहुंचाने के लिए केंद्र की अपनी सरकार से ही समयबद्ध ढंग से जांच करवा ले। कांग्रेस को भी पीड़ितों हमदर्दी है तथा पार्टी को भी दिल्ली दंगों का दर्द है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने पहले ही राजीव गांधी का नाम दंगों के साथ जोडऩे के मामले में अकाली दल पर सियासी हमला बोल दिया है। कैप्टन द्वारा दिए बयान का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि अकाली दल को हमेशा चुनावों के निकट ही 1984 के दंगों की याद आती है। 

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने सुप्रीमकोर्ट के आदेशों के बावजूद भी इन दंगों की जांच के लिए एस.आई.टी. के गठन में देरी की,जो भी दोषी हो उसे सजा मिले परन्तु  इन दंगों में मारे गए लोगों की चिताओ पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने मोदी सरकार की पाकिस्तान नीति का विरोध करते हुए कहा कि केंद्र पाकिस्तान से सख्ती से निपटने में नाकाम रहा है। सर्जीकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान द्वारा घुसपैठ 800 प्रतिशत की बढ़ौतरी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विपक्ष में रहते हुए यू.पी.ए. को कमजोर सरकार कह कर पुकारते थे परन्तु अब रोजाना एल.ओ.सी. से शहीदों के ताबूत आ रहे हैं। 
 
राहुल गांधी विधायकों को पार्टी के कामकाज से मुक्त रखने के पक्षधर
सुनील जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस के विधायकों को पंजाब में पार्टी के कामकाज से मुक्त रखने के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब कांग्रेस कमेटी का पुनर्गठन जल्द कर दिया जाएगा। इस संबंध में राहुल गांधी के साथ विस्तार से चर्चा हो चुकी है। उन्होंने संकेत दिया कि विधायकों के पास चूंकि अपने विधानसभा हलकों का काफी कामकाज होता है इसीलिए राहुल चाहते हैं कि अब पार्टी संगठन में नए चेहरों को आगे लाने का मौका दिया जाए। इससे पार्टी विधायक अपना अधिक से अधिक समय अपने विधानसभा हलकों को दे सकेंगे। उन्होंने कहा कि मिशन 2019 को सामने रख कर ही पार्टी का पुनगर्ठन किया जाएगा। पार्टी राज्य में लोकसभा की अधिकांश सीटों को जीत लेगी।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन