रिश्तेदार ने बच्चे को अगवा करके उतारा मौत के घाट(video)

You Are HereLatest News
Thursday, January 11, 2018-10:08 AM

गिद्दड़बाहा(कुलभूषण): गांव कुराईवाला के रहने वाले 14 वर्षीय विद्यार्थी सुरिन्द्र सिंह के अपहरणकर्ता सोनी सिंह ने पुलिस के पास माना है कि उसने सुरिन्द्र सिंह को करीब 11 बजे अगवा करने के कुछ समय बाद ही उसको नशीली गोलियां ड्रिंक में मिला कर दी और फिर उसको सरहिन्द फीडर में फैंक कर उसका कत्ल करने के बाद सुरिन्द्र सिंह के पिता के पास फोन कर फिरौती की मांग की थी। पुलिस कथित आरोपी सोनी सिंह की निशानदेही पर सरहिन्द फीडर नहर के घग्गा-बुबानियां के पुल के पास नहर में से सुरिन्द्र सिंह की तलाश में जुटी हुई है।

यह था मामला
सुरिन्द्र सिंह जो कि गांव के ही सरकारी स्कूल का 9वीं कक्षा का विद्यार्थी था, अपने घर से 11 बजे खेलने के लिए गया था। जब वह शाम तक घर नहीं पहुंचा तो परिवार द्वारा सुरिन्द्र सिंह की तलाश शुरू की और सुरिन्द्र सिंह की तलाश के लिए गांव के गुरुद्वारा साहिब से अनाऊंसमैंट करवाई तो गांव से ही पता लगा कि सुरिन्द्र गांव के ही एक व्यक्ति सोनी सिंह के साथ बाइक पर जाता देखा गया था। इसी दौरान अपने पिता बूटा सिंह का मोबाइल साथ ले गए सुरिन्द्र के फोन से किसी व्यक्ति का फोन आया कि ‘4 लाख रुपए सिविल अस्पताल मलोट के नजदीक लेकर आ जाओ, और अपना लड़का ले जाओ’। 

पुलिस मार रही है अंधेरे में तीर  
सरहिन्द नहर में से सुरिन्द्र सिंह की तलाश में जुटे कुछ गांव निवासियों ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि पुलिस अभी भी अंधेरे में तीर मार रही है क्योंकि सोनी सिंह का जिस तरह का बीता कल गैर कानूनी कामों वाला रहा है उससे ऐसा नहीं लगता कि वह सुरिन्द्र सिंह को नहर में फैंकने वाली बात सही कह रहा है।

मां दरवाजे पर कर रही अपने लाल के आने का इंतजार
 जिस दिन से सुरिन्द्र सिंह अगवा हुआ है उस समय से ही एक अलग किस्म के खौफ में जी रही सुरिन्द्र की मां रानी कौर, उसकी बहनें अर्शदीप कौर, हरमेश कौर और 7 वर्षीय भाई सेवक सिंह भीगी आंखों से लगातार दरवाजे पर टकटकी लगा कर सुरिन्द्र के वापस आने की राह देख रहे थे। उनका कहना है कि जब भी किसी बच्चे की आवाज आती है तो उनको इस तरह लगता है कि सुरिन्द्र आ गया।

क्या कहना है डी.एस.पी. गिद्दड़बाहा का  
उक्त सारे मामले संबंधी गिद्दड़बाहा के डी.एस.पी. राजपाल सिंह हुन्दल ने बताया कि पुलिस द्वारा गत रात्रि कथित आरोपी सोनी सिंह को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की गई तो उसने माना कि उसने केवल पैसों के लिए ही सुरिन्द्र सिंह को अगवा किया था और अगवा करने के कुछ समय बाद ही उसको नशीली गोलियां ड्रिंक में डाल कर अद्र्ध बेहोशी की हालत में सरहिन्द फीडर नहर में (घग्गा-बुबानियां पुल के समीप) धक्का देकर उसका कत्ल कर दिया था। उन्होंने बताया कि सोनी सिंह की निशानदेही पर नहर में से गोताखोरों और गांव वासियों की मदद से सुरिन्द्र सिंह की तलाश की जा रही है जबकि अभी तक सुरिन्द्र सिंह का कोई पता नहीं लग सका है।

सोनी सिंह को लेकर खौफ में रही पुलिस  
सोनी सिंह को जब मीडिया के आगे लाने की बात हुई तो डी.एस.पी. राजपाल सिंह हुन्दल द्वारा मुख्य मुंशी को फोन करने के बावजूद भी पुलिस ने पहले इस बारे एस.एच.ओ. धर्मपाल शर्मा को सूचित किया और बाद में सोनी सिंह के भाग जाने का डर पुलिस को इस कदर सता रहा थी कि उसको लॉकअप में से बाहर लाने से पहले थाने के मुख्य दरवाजे को बंद किया गया और 2 पुलिस कर्मचारियों की तरफ से पूरी सख्ती के साथ सोनी सिंह के बाजू पकड़ कर उसे मीडिया के आगे पेश किया गया। जिससे लगता है कि पुलिस को अपने आप पर भी यकीन नहीं है कि वह अपराधी को काबू में रख सकेगी।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन