Subscribe Now!

बठिंडा से चंडीगढ़ 225 कि.मी. फोरलेन सड़क मुकम्मल

  • बठिंडा से चंडीगढ़ 225 कि.मी. फोरलेन सड़क मुकम्मल
You Are HereBathinda
Tuesday, February 13, 2018-10:21 AM

बठिंडा(विजय): एक समय था जब बठिंडा से चंडीगढ़ जाने के लिए 5 से 6 घंटे लगते थे लेकिन फोरलेन सड़क बनने से अब 3 से 4 घंटे में ही चंडीगढ़ पहुंचा जा सकता है। केवल एक ही बाधा रामपुरा फूल पुल की है जिसका संताप पिछले 2 वर्ष से झेला जा रहा है। बरनाला से रामपुरा के रास्ते बङ्क्षठडा आने के लिए गांवों की गलियां व सिंगल रोड का सहारा लेना पड़ रहा था जिससे काफी समय बर्बाद होता था।

रामपुरा का पुल तैयार हो चुका है जिसे 15 फरवरी से आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। पहले चरण में केवल एक साइड ही चलेगी जबकि 15 मार्च को दूसरी साइड भी चलने लगेगी। अगले 2-3 दिनों में रामपुरा पुल की सुविधा के लिए वाहन चालक बेकरार थे जबकि जल्द ही यह मुश्किल हल होने जा रही है जिससे लोगों ने राहत की सांस ली। पटेल इन्फ्रास्ट्रक्चर कम्पनी द्वारा इस सड़क का निर्माण किया गया व बठिंडा से चंडीगढ़ तक यह सड़क कंक्रीट से बनाई गई है।
 

 3 बाईपास व 28 नए पुल बनाए गए, कार चालकों को 400 रुपए करने पड़ेंगे अदा
 बठिंडा से लेकर चंडीगढ़ तक 225 कि.मी. फोरलेन सड़क नैशनल हाईवे-7 मुकम्मल हो चुकी है जिस पर लगभग 1700 करोड़ रुपए केंद्र सरकार का खर्च आया। इस सड़क पर 5 टोल टैक्स लगाए जा रहे हैं जबकि कार चालकों को चंडीगढ़ जाने के लिए 400 रुपए के लिए जेब ढीली करनी पड़ेगी। 28 ओवरब्रिज व 3 बाईपास के साथ इस सड़क को बनाने के लिए अढ़ाई वर्ष का समय लगा। आगे का सफर लोगों के लिए सुविधाजनक होगा। सड़क के दोनों ओर लाइटों का प्रबंध किया गया जबकि फोरलेन के साथ दोनों ओर सर्विसलेन बनाई गई है जिससे गांवों व निजी संस्थानों में जाने वाले लोगों को सुविधा दी गई है। 15 फरवरी के बाद बङ्क्षठडा से चंडीगढ़ 3 से 3.5 घंटे में पहुंचना संभव होगा।

 क्या कहते हैं एक्सियन

इस संबंधी एक्सियन नीरज भंडारी ने कहा कि सड़क लगभग पूरी हो चुकी है। छोटा-मोटा काम बाकी है, सबसे बड़ी दिक्कत रामपुरा पुल की थी जिसके लिए रेलवे विभाग ने देरी की। 15 फरवरी से आम जनता के लिए यह पुल खोल दिया जाएगा जिस पर अभी ट्रायल चल रहा है। लोगों की सुविधा को देखते हुए पहले चरण में एक साइड का पुल चालू किया जा रहा है जबकि एक महीने बाद पुल की दूसरी साइड भी चालू की जाएगी उसके बाद टोल टैक्स लगेंगे। बठिंडा के कुछ हिस्से में अभी लाइट लगनी बाकी है क्योंकि कनैक्शन अप्लाई किया गया है जिसकी मंजूरी 1-2 दिन में मिलने की संभावना है, लाइटिंग भी चालू हो जाएगी। सुरक्षा हेतु सभी बोर्ड भी लगाए जा चुके हैं। कोई जानवर या पशु सड़क के बीच न आए, इसके भी प्रबंध किए गए हैं। 
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन